दैनिक भास्कर हिंदी: कर्जमाफी: शिवराज बोले- मेरे भाई ने नहीं किया आवेदन, कांग्रेस ने पेश किए सबूत

May 9th, 2019

हाईलाइट

  • मध्य प्रदेश में किसानों की कर्ज माफी को लेकर भिड़ी कांग्रेस-बीजेपी 
  • कांग्रेस का दावा- शिवराज सिंह चौहान के भाई और चाचा का कर्जा माफ हुआ
  • शिवराज ने कहा- मेरे भाई ने नहीं किया था लोन माफी का आवेदन
  • कांग्रेस ने पेश किए सबूत

डिजिटल डेस्क, भोपाल। लोकसभा चुनाव के बीच किसानों की कर्जमाफी वाले कांग्रेस के दावे को लेकर मध्य प्रदेश की राजनीति में बवाल मच गया है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने दावा किया था कि, कांग्रेस सरकार ने शिवराज सिंह चौहान के भाई और चाचा तक का भी कर्जा माफ किया। शिवराज सिंह ने कांग्रेस के दावे को खारिज करते हुए कहा कि, उनके भाई ने लोन माफी का आवेदन ही नहीं किया था। इतना ही नहीं उन्होंने कमलनाथ सरकार से सवाल भी किया है कि, मेरा भाई आयकरदाता है, तो उसका कर्ज क्यों माफ किया गया। अब कांग्रेस ने शिवराज पर झूठ बोलने का आरोप लगाए हुए कर्जमाफी के सबूत पेश कर दिए हैं। इसमें  भाई रोहित सिंह का कर्जमाफी वाला फार्म भी पेश  किया गया है।

मध्य प्रदेश के कृषि मंत्री सचिन यादव ने ट्वीट कर कर्ज माफी के सबूत पेश किए हैं। उन्होंने ट्वीट में लिखा है, शिवराज सिंह जी अब भी कुछ झूठ बोलना बाकी है। सुबह झूठ बोलकर प्रेस वालों को गुमराह किया कि मेरे भाई ने कर्जमाफी के लिए फॉर्म ही नही भरा, फिर अब यह क्या है। क्या आपने मां नर्मदा में खड़े होकर सच नही बोलने की भी कसम खाई हुई है।

दरअसल बुधवार को ग्वालियर में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा था कि, पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह कहते हैं कि मध्य प्रदेश के किसानों का कर्जामाफ नहीं हुआ, लेकिन सच तो यह है कि कांग्रेस सरकार ने शिवराज सिंह चौहान के भाई और चाचा तक का कर्जा माफ किया है।

राहुल गांधी के इस बयान के बाद मध्य प्रदेश के कृषि मंत्री सचिन यादव ने ट्वीट कर इस बात का सबूत दिया था कि, पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के भाई रोहित सिंह चौहान और चाचा के बेटे निरंजन सिंह का भी कर्ज 'जय किसान ऋण माफी योजना' के तहत मध्य प्रदेश सरकार ने माफ किया है। सचिन यादव ने आरोप लगाया था कि, शिवराज सिंह को अपने परिवार की ही कर्ज़माफी का पता नहीं है और प्रदेश के किसानों की बात कर रहे है, शिवराज जी अब तो झूठ फैलाना बंद कीजिए।

गुरुवार को शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के दावे को खारिज कर दिया। शिवराज सिंह ने प्रेस कांफ्रेंस कर कांग्रेस पर कर्जमाफी को लेकर झूठ फैलाने का आरोप लगाते हुए कहा, उनके भाई ने कर्ज माफी के लिए आवेदन ही नहीं भरा था, फिर मुख्यमंत्री कमलनाथ उनपर इतनी कृपा क्यों कर रहे हैं। शिवराज सिंह ने कहा, मध्य प्रदेश में किसानों की कर्ज माफी कांग्रेस सरकार का झूठ है, जब तक बैंक कर्जमाफी का प्रमाण पत्र नहीं भेजते हैं तब तक कर्ज माफी नहीं मानी जाएगी।

शिवराज सिंह ने कहा, मुख्यमंत्री कमलनाथ ने 'अल्पकालीन फसल ऋण' का 2 लाख रुपये तक का किसानों की कर्ज़ माफी का आदेश पारित किया, जबकि वचनपत्र में हर तरह की फसल ऋण माफी की बात की गई थी। उन्होंने कहा, कमलनाथ जी अब आप केवल अल्प अवधि वाले फसल ऋण माफी की बात कर रहे हैं, तो हार्टिकल्चर, फिशरीज, पशुपालन वाले और अन्य कृषि कार्यों के लिए जिन किसानों ने कर्ज़ लिया है, उनका क्या? किसानों के सभी कर्ज़ों की माफी की बात थी और अब कांग्रेस अपने ही वचन से पलट रही है।

शिवराज ने कहा, मध्य प्रदेश सरकार का पहला आदेश ही झूठा है, किसानों को छलने वाला है। राहुल गांधी जी, कमलनाथ जी, आपने किसानों को दिया हुआ वचन नहीं निभाया है। कमलनाथ जी आपने 21 लाख किसानों के फसल ऋण माफी की जो सूची सौंपी है, उसमें कहीं भी यूटीआर (Unique transaction reference) नंबर नहीं है और इसके बिना राशि का हस्तांतरण संभव नहीं है। शिवराज सिंह ने मुख्यमंत्री कमलनाथ से सवाल भी किया है कि, कांग्रेस ने अपने वचन पत्र में कहा था कि आयकर देने वाले किसान का कर्ज माफ नहीं किया जाएगा। मेरा भाई आयकरदाता है, तो उसका कर्ज क्यों माफ किया गया? कमलनाथ इसका जवाब दें।

खबरें और भी हैं...