दैनिक भास्कर हिंदी: कर्नाटक चुनाव : 4 दिनों के दौरे पर राहुल, फिर होगी मंदिर पॉलिटिक्स

August 30th, 2018

डिजिटल डेस्क,कर्नाटक। विधानसभा चुनाव को लेकर एक बार फिर कांग्रेस चुनावी मोड में है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी शनिवार से कर्नाटक दौरे पर रहेंगे। बताया जा रहा है कि इस दौरान के दौरान एक बार फिर राहुल मंदिर, मठ जाकर सभी का ध्यान अपनी ओर खींचने पर रहेगा। बताया ये भी जा रहा है कि मंदिर के अलावा राहुल का एक दरगाह जाने का भी कार्यक्रम है।

गौरतलब है कि गुजरात चुनाव के नजीतों के बाद आत्मविश्वास से लबरेज कांग्रेस पार्टी किसी भी तरह की चूक नहीं चाहती, क्योंकि एक गलती उस पर भारी पड़ सकती है। कांग्रेस बीजेपी को कोई भी मौका नहीं देना चाहती जिससे उसे लाभ मिल सके। यहीं कारण है कि राहुल (शनिवार) 10 फरवरी से 13 फरवरी तक कर्नाटक में इलेक्शन कैंपेन शुरू करने जा रहे हैं। राहुल दौरे अपने दौरे की शुरुआत हैदराबाद-कर्नाटक के कोप्पल से करने वाले हैं। राहुल इस दौरान बेल्लारी, कोपल, रायचूर और गुलबर्गा और बिदर जाएंगे। राहुल इस दौरान दो मंदिर सिद्देश्वर मठ के अलावा एक अन्य मंदिर जाकर दर्शन करेंगे। राहुल गुलबर्गा स्थित हजरत ख्वाजा बंदे नवाज की दरगाह भी जाएंगे। 
 

लिंगायत समुदाय को कर पाएंगे आकर्षित ?

राहुल गांधी का हुलीगम्मा मंदिर जाने का कार्यक्रम है। इसके बाद वो गवी सिद्धेश्वर मठ जाएंगे। गवी सिद्धेश्वर मठ को लिंगायत मठ भी कहा जाता है। इस क्षेत्र में लिंगायत समुदाय की आबादी सबसे ज्यादा है। गौरतलब है कि राहुल गांधी की कोशिश होगी कि वो लिंगायत समुदाय के लोगों को अपनी ओर आकर्षित कर सकें, क्योंकि लिंगायत समुदाय के लोगों को बीजेपी का कट्टर समर्थक माना जाता है।

येदियुरप्पा का राहुल पर निशाना

वहीं राहुल गांधी के दौरे से पहले कर्नाटक बीजेपी के चीफ और एक्स सीएम बीएस येदियुरप्पा ने राहुल गांधी पर बड़ा हमला बोलते हुए उन्हें 'चुनावी हिंदू' बताया है। इसके साथ ही येदियुरप्पा ने ये भी कहा कि राहुल गांधी जहां-जहां प्रचार करने गए, वहां कांग्रेस हारी है। बता दें कि कर्नाटक चुनाव के लिए राहुल गांधी 10 से 13 फरवरी के बीच कई बड़े मंदिरों के दर्शन करने जा सकते हैं। 

गुजरात में 27 मंदिरों के किए दर्शन

 गुजरात चुनाव के दौरान राहुल गांधी ने 27 मंदिरों के दर्शन किए थे। राहुल ने गुजरात में अपनी नवसर्जन यात्रा की शुरुआत द्वारकाधीश में माथा टेककर की थी। गुजरात चुनाव के दौरान राहुल ने द्वारकाधीश, खोडलधाम, संतराम मंदिर, पावागढ़ महाकाली, ऊनाई मां का मंदिर, अक्षरधाम मंदिर, बहुचराजी का मंदिर, कबीर मंदिर, चोटिला देवी मंदिर, दासी जीवन मंदिर, जलाराम मंदिर और कृष्णा मंदिर, सोमनाथ मंदिर समेत 27 मंदिरों के दर्शन किए थे। गुजरात चुनाव प्रचार के दौरान बार-बार राहुल का मंदिर जाना बीजेपी को पसंद नहीं आया, जिस कारण बीजेपी ने राहुल पर कई बार हमले किए हैं। खुद पीएम ने एक रैली में कहा था कि हमने अच्छे-अच्छों को मंदिर जाने की आदत डलवा दी।

कर्नाटक में बीजेपी को वापसी की उम्मीद

कर्नाटक उन 4 राज्यों में से एक है, जहां कांग्रेस की सरकार है। कर्नाटक में इसी साल विधानसभा चुनाव होने हैं और बीजेपी को यहां वापसी की उम्मीद है। साउथ इंडिया का कर्नाटक ही एकमात्र ऐसा राज्य है जहां बीजेपी सत्ता में रह चुकी है। कर्नाटक में अभी कांग्रेस की सरकार है और सिद्धारमैया मुख्यमंत्री हैं। 2013 के विधानसभा चुनावों में कांग्रेस ने यहां की 224 सीटों में से 122 सीटें जीती थी, जबकि बीजेपी ने 40 और एचडी देवगौडा की जनता दल (सेक्यूलर) ने भी 40 सीटों पर कब्जा किया था। विधानसभा चुनावों में बीजेपी भले ही कुछ खास न कर पाई हो, लेकिन 2014 के लोकसभा चुनावों में बीजेपी ने यहां की 28 सीटों में से 17 सीटें जीती थीं, जबकि कांग्रेस के खाते में सिर्फ 9 सीटें ही गई थी।