comScore

अब शीतकालीन सत्र के चलते फिर टल सकती है कांग्रेस की रैली

अब शीतकालीन सत्र के चलते फिर टल सकती है कांग्रेस की रैली

हाईलाइट

  • फिर स्थगित हो सकती है कांग्रेस की 'भारत बचाओ' रैली
  • स्थगित हुई तो 14 दिसंबर को केंद्र को घेरेगी कांग्रेस
  • आर्थिक मंदी और बेरोजगारी जैसे मुद्दों पर होगा विरोध प्रदर्शन

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। शीतकालीन सत्र के मद्देनजर कांग्रेस की 'भारत बचाओ' रैली के एक बार फिर स्थगित होने की आशंका है। कांग्रेस पार्टी भाजपा की केंद्र सरकार को घेरने की तैयारी कर रही है। आर्थिक मंदी और बेरोजगारी जैसे कई मुद्दों पर कांग्रेस, केंद्र को घेरने के लिए 30 नवंबर को रामलीला मैदान में रैली करने वाली है, लेकिन अब यह रैली शीतकालीन सत्र के शुरूआत होने से टल सकती है। यदि ऐसा होता है तो कांग्रेस 14 दिसंबर को केंद्र के विरोध में रैली करेगी। इस दौरान पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी समेत कई दिग्गज नेता रैली को संबोधित करेंगे।

यह रैली पहले अक्टूबर में होने वाली थी, लेकिन महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभा चुनाव के कारण पार्टी को कार्यक्रम नवंबर तय करना पड़ा। इसके बाद अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद कांग्रेस के सभी कार्यक्रमों को रोक दिया था। इससे पहले नवंबर के पहले हफ्ते में कांग्रेस ने आर्थिक मंदी को लेकर कई प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी। कांग्रेस ने यह भी निर्देश जारी किए थे कि 25 नवंबर तक ब्लॉक से लेकर राज्यस्तर तक सभी कार्यक्रम पूरे हो जाएं, जिसके बाद 30 नवंबर को रैली की जा सके। अब शीतकालीन सत्र की वजह से यह 14 दिसंबर को हो सकती है।

कांग्रेस की कोशिश है कि वह अपनी 'भारत बचाओ' रैली में अच्छी संख्या में भीड़ इकट्ठा करें। पार्टी का कहना है कि अर्थव्यवस्था के संकट से आम आदमी परेशान है। बताया जा रहा है कि केंद्र के खिलाफ इस मुद्दे को छेड़ते हुए कांग्रेस बड़ा आंदोलन करने जा रही है और इससे वह जनता का दिल जीतना चाहती है।

कमेंट करें
vzFK2