comScore

मप्र में कोरोना की एंट्री: जबलपुर में मिले 4 संक्रमित, सारा शहर लॉकडाउन, देश में अब तक 251 पॉजीटिव


हाईलाइट

  • चारों संक्रमितों को आइसोलेशन में रखा गया है
  • एक जर्मनी और 3 संक्रमित दुबई से लौटे थे
  • स्वास्थ्य विभाग की प्रमुख सचिव ने पुष्टि की

डिजिटल डेस्क, भोपाल। पूरी दुनिया को अपनी चपेट में लेने वाले कोरोना वायरस शुक्रवार को मध्यप्रदेश में भी पहुंच गया है। राज्य में पहली बार इस जानलेवा वायरस से 4 मरीजों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। ये चारों मरीज जबलपुर में मिले हैं। इनमें से एक मरीज जर्मनी से तो वहीं अन्य तीन मरीज दुबई से लौटे थे। ये तीनों एक ही परिवार के हैं। चारों को मेडिकल कॉलेज के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया है। इसकी पुष्टि स्वास्थ्य विभाग की प्रमुख सचिव पल्लवी जैन गोविल ने की। उन्होंने बताया कि चारों मरीजों में संक्रमण का पहला स्टेज है। वहीं कोरोना वायरस के ​मरीजों के पुष्टि होने के बाद शुक्रवार रात सारा शहर लॉकडाउन करवा दिया गया है।

बता दें कि गुरुवार को इन चारों मरीजों की जांच की गई थी। जबलपुर मेडिकल कॉलेज की लैब में कोरोना की जांच की व्यवस्था की गई है, इसलिए 24 घंटे में चारों की जांच रिपोर्ट आ गई। प्रशासन अब संक्रमितों के परिवारों की भी जांच करा रहा है। साथ ही यह भी सूची बनाई जा रही है कि विदेश यात्रा से लौटने के बाद चारों कहां-कहां गए और किस-किस से मिले। सभी की जांच कराई जाएगी। कोरोनावायरस के खतरे को देखते हुए शासन ने एहतियातन स्कूल-कॉलेज, मॉल, सिनेमाघर बंद कर दिए गए हैं। सरकार ने आठवीं तक के छात्रों को बिना परीक्षा के अगली क्लास में प्रमोट करने का निर्णय लिया था।

इंदौर में लागू है धारा 144
बता दें कि उज्जैन में कोरोना वायरस के दो संदिग्ध मामले सामने आ चुके हैं, जिसके बाद राज्यभर में सतर्कता बरती जा रही हैं। प्रशासन की ओर से जारी आदेश में कहा गया था कि इंदौर जिले की सीमा के बाहर के स्थानों से आने वाले लोगों की जांच की जाएगी। अभी एयरपोर्ट पर आ रहे अंतर्राष्ट्रीय यात्रियों के लिए है, लेकिन संक्रमण की संभावना को देखते हुए रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड या अन्य किसी स्थल पर यात्रियों की जांच जरूरी होगी।

कार्यवाहक सीएम कमलनाथ ने प्रदेशवासियों से सतर्क रहने की अपील की
जबलपुर में कोरोना वायरस के संक्रमित मरीजों की पुष्टि होने के बाद कार्यवाहक सीएम कमलनाथ ने प्रदेशवासियों के नाम एक पत्र लिखकर सतर्क रहने की अपील की है। पत्र में उन्होंने कहा कि विदेश से आने वाले और उनके संपर्क में आने वाले लोगों को चिन्हित किया जा रहा है। कोरोना वायरस के संबंध में प्रशासन को निर्देशित किया गया है। तत्परता से कार्यवाही करते हुए ऐसे लोगों को चिन्हित किया जाए जो विदेश से लौटे लोगों के सम्पर्क में आए हैं, ताकि उन्हें आइसोलेशन में रखा जा सके। 
 
भोपाल के होटल में चार संदिग्ध
एमपी नगर जोन-2 के राजहंस होटल में आइसोलेट किए गए कोरोना के चार संदिग्ध मरीजों में से एक का सैंपल गुरुवार को दोबारा लिया गया। स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों के अनुसार एम्स प्रशासन ने तकनीकी कारणों से सैंपल रिजेक्ट होने की सूचना दी थी। इसके साथ के तीन अन्य मरीजों की जांच पुराने सैंपल के आधार पर ही की जा रही है। हालांकि, इन मरीजों की जांच रिपोर्ट अब तक नहीं मिली है। इधर, शुक्रवार को राजहंस होटल के सभी कर्मचारियों का भी स्वास्थ्य परीक्षण कराया गया। सीएमएचओ सुधीर डेहरिया ने बताया कि सभी कर्मचारी स्वस्थ पाए गए हैं। संदिग्ध मरीजों को होटल के कमरे में ही क्ववारेंटाइन कर पूरे फ्लोर को खाली कराया गया है।

मॉल, स्कूल-कॉलेज सब बंद
शासन ने कोरोनावायरस के खतरे को देखते हुए एहतियातन स्कूल-कॉलेज, मॉल, सिनेमाघर बंद कर दिए हैं। सरकार ने आठवीं तक के छात्रों को बिना परीक्षा के अगली क्लास में प्रमोट करने का निर्णय लिया था।

22 राज्यों में अब तक 251 लोग संक्रमित
बता दें कि देश के 22 राज्यों में अब तक कोरोना वायरस से 251 लोग संक्रमित हो चुके हैं। इनमें से चार लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं 23 लोग स्वस्थ होकर घर पहुंच चुके हैं। सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट् में सामने आए हैं। यहां 52 लोग सं​क्रमित हो चुके हैं। वहीं केरला में 40, उत्तरप्रदेश में 23, तेलंगाना में 19, हरियाणा में 18, दिल्ली और राजस्थान में 17-17, कर्नाटक में 15, लद्दाक में 10, गुजरात में 7, चंडीगढ़ में 5, जम्मू-कश्मीर और मध्यप्रदेश में 4-4, ​तमिलनाडू, पंजाब, आंध्रप्रदेश और उतराखंड में 3-3, उड़ीसा, पश्चिम बंगाल और हिमाचल प्रदेश में 2-2, पुंडुचेरी और छत्तीसगढ़ में 1-1 लोग संक्रमित हुए हैं।
 

कमेंट करें
4arCx