दैनिक भास्कर हिंदी: Corona Vaccine: ऑल पार्टी मीटिंग के बाद बोले पीएम मोदी, कुछ हफ्तों में कोरोना वैक्सीन तैयार हो जाएगी

December 4th, 2020

हाईलाइट

  • कोरोना के मुद्दे पर केंद्र सरकार ने शुक्रवार को ऑल पार्टी मीटिंग बुलाई
  • पीएम मोदी ने वैक्सीन की तैयारियों को लेकर विस्तार से अपनी बात रखी

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। कोरोना के मुद्दे पर केंद्र सरकार ने शुक्रवार को ऑल पार्टी मीटिंग बुलाई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस मीटिंग में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए वैक्सीन की तैयारियों को लेकर विस्तार से अपनी बात रखी। उन्होंने कहा कि कुछ हफ्तों में कोरोना वैक्सीन तैयार हो जाएगी, पहला टीका बीमार बुजुर्गों और हेल्थ वर्कर्स को लगाया जाएगा।

पीएम मोदी ने कहा, दुनिया की नजर कम कीमत वाली सुरक्षित वैक्सीन पर है, और इसलिए स्वाभाविक है कि पूरी दुनिया की नजर भारत पर भी है। कोरोना वैक्सीन को लेकर जो विश्वास इस चर्चा में नजर आया है वो कोरोना के खिलाफ हमारी लड़ाई को और मजबूत करेगा। इस बारे में बीते दिनों में मेरी मुख्यमंत्रियों से चर्चा हुई थी। टीकाकरण को लेकर राज्य सरकारों के अनेक सुझाव भी मिले थे। लगभग 8 वैक्सीन ट्रायल स्टेज में है जिनकी मैन्युफैक्चरिंग भारत में होगी। जैसे ही हमे वैज्ञानिक आगे बढ़ेने के लिए कहेंगे, भारत का टीकाकरण शुरू हो जाएगा। पहले चरण में, स्वास्थ्य कर्मियों, फ्रंटलाइन वर्करों और सीरियर कंडीशन वाले लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी।

वैक्सीन के वितरण के लिए केंद्रीय और राज्य सरकार की टीमें मिलकर काम कर रही हैं। अन्य देशों के मुकाबले हम बेहतर हैं। हमारे पास टीकाकरण के लिए दुनिया का बहुत बड़ा और अनुभवी नेटवर्क है। जो भी अतिरिक्त जरूरतें पड़ेंगी, उनका भी आकलन हो रहा है। कोल्ड चेन को मजबूत करने के लिए प्रयास जारी हैं। भारत ने विशेष सॉफ्टवेयर बनाया है, जिसमें कोरोना वैक्सीन के लाभार्थी वैक्सीन से जुड़ी रियल टाइम जानकारी हासिल कर सकते हैं। कोरोना वैक्सीन के जुड़े अभियान का दायित्व नेशनल एक्सपर्ट ग्रुप को दिया गया है। ये ग्रुप राज्य सरकारों के साथ मिलकर काम कर रहा है। राष्ट्रीय और स्थानीय जरूरतों के हिसाब से फैसले इसी ग्रुप से लिए जाएंगे।

पीएम मोदी ने वैक्सीन की कीमत को लेकर कहा, 'वैक्सीन की कीमत का सवाल भी स्वाभाविक है। केंद्र इस संबंध में राज्यों से बात कर रहा है। फैसला जन स्वास्थ्य को सर्वोच्च प्राथमिकता देते हुए लिया जाएगा। भारत आज उन देशों में है, जहां प्रतिदिन टेस्टिंग ज्यादा हो रही है। भारत उन देशों में है, जहां रिकवरी रेट ज्यादा और मृत्यु दर कम है। हमने जिस तरह कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ी, वो प्रत्येक देशवासी की इच्छाशक्ति को दिखाता है। भारत ने विकसित देशों की तुलना में लड़ाई बेहतर तरीके से लड़ी।'

खबरें और भी हैं...