comScore

Cyclone Amphan: बंगाल की खाड़ी में चक्रवाती तूफान की चेतावनी, तेज आंधी-बारिश की संभावना, अलर्ट जारी

Cyclone Amphan: बंगाल की खाड़ी में चक्रवाती तूफान की चेतावनी, तेज आंधी-बारिश की संभावना, अलर्ट जारी

हाईलाइट

  • मौसम विभाग ने चक्रवाती तूफान अम्फान की जताई आशंका
  • ओडिशा के तटीय जिलों को जारी किया गया अलर्ट

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारतीय मौसम विभाग ने चक्रवाती तूफान की आशंका जताई है। पूर्वानुमान के मुताबिक बंगाल की खाड़ी के ऊपर और दक्षिण अंडमान सागर के पास कम दबाव का क्षेत्र बन रहा है, इससे ओडिशा और उसके आस-पास के इलाकों में चक्रवाती तूफान 'अम्फान' की संभावना है। तूफान की वजह से तटीय राज्यों में तेज हवाओं के साथ बारिश भी हो सकती है। इस कारण ओडिशा के तटीय जिलों को अलर्ट जारी किया गया है। इसके अलावा मिजोरम, मणिपुर, पश्चिम बंगाल, त्रिपुरा में भी मौसम विभाग ने ऑरेंज अलर्ट जारी किया है।

मछुआरों को समंदर किनारे ना जाने की सलाह
मौसम विभाग ने शनिवार को कहा कि बंगाल की खाड़ी में बना कम दबाव का क्षेत्र अवपात (डिप्रेशन) में तब्दील हो गया है। यह अगले 12 घंटों में तेजी के साथ चक्रवाती तूफान में बदल सकता है और इसके बाद 24 घंटों में यह एक गंभीर चक्रवाती तूफान का रूप ले सकता है। विभाग ने मछुआरों को समंदर के किनारे ना जाने की सलाह दी है, अंडमान-निकोबार, आइलैंड समेत कई जगहों पर भारी बारिश की संभावना जताई गई है।

अगले पांच-छह दिनों तक मौसम खराब रहने की चेतावनी
मौसम विभाग ने अगले पांच-छह दिनों के लिए अंडमान सागर, आंध्र प्रदेश, ओडिशा और पश्चिम बंगाल के तटों पर मौसम खराब रहने की चेतावनी दी है। अंडमान-निकोबार द्वीप समूह, ओडिशा और पश्चिम बंगाल में हल्की से मध्यम बारिश होगी। ओडिशा सरकार ने तटीय क्षेत्र के 12 जिला कलेक्टरों को संभावित स्थिति के लिए तैयार रहने को कहा है। उन्होंने कहा, समुद्र की स्थिति दक्षिण व निकटवर्ती बंगाल की खाड़ी और अंडमान सागर में अशांत होगी, जिसके कारण मछुआरों को 15 मई, 2020 से दक्षिण और मध्य महासागर में नहीं जाने की सलाह दी गई है। उन्होंने कहा, जो लोग समुद्री क्षेत्र में हैं, उन्हें आज शाम तक वापस लौटने की सलाह दी गई है।

India Weather: इस साल चार दिन की देरी से केरल पहुंचेगा मानसून, 5 जून को देगा दस्तक-IMD

हरियाणा और दिल्ली के कुछ हिस्सों में 17 मई को होगी बारिश
इस बीच आईएमडी के उत्तर-पश्चिम मौसम विज्ञान केंद्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने कहा कि पश्चिमी विक्षोभ के कारण हरियाणा और दिल्ली के कुछ हिस्सों में 17 मई शाम को बारिश होगी। उन्होंने कहा, उत्तर भारत में तापमान 21 से 22 मई (गुरुवार, शुक्रवार) को 42 डिग्री तक बढ़ जाएगा।

कमेंट करें
nCgIc