comScore

Rajnath Leh Visit: लेह में फॉरवर्ड लोकेशन पर जायजा लेने के बाद श्रीनगर पहुंचे रक्षामंत्री


हाईलाइट

  • LAC को लेकर चल रहे तनाव के बीच रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह शुक्रवार को लेह पहुंचे
  • CDS बिपिन रावत और आर्मी जनरल मनोज मुकुंद नरवणे भी मौजूद
  • राजनाथ सिंह अपने इस दौरे में सैन्य अधिकारियों के साथ LAC की स्थितियों पर चर्चा करेंगे

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारत और चीन के बीच लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) को लेकर चल रहे तनाव के बीच रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह शुक्रवार को लेह पहुंचे। उनके साथ चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ बिपिन रावत और चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ जनरल मनोज मुकुंद नरवणे भी मौजूद है। भारतीय सशस्त्र बलों के सैनिकों ने रक्षा मंत्री, CDS और सेना प्रमुख की मौजूदगी में स्टाकना (लेह) में पैरा ड्रापिंग अभ्यास किया। राजनाथ सिंह अपने इस दौरे में लुकुंग में भारतीय सेना और ITBP कर्मियों के साथ बातचीत की। रक्षा मंत्री अब श्रीनगर पहुंच गए हैं। यहां पर वह सीमाओं पर स्थिति की समीक्षा करेंगे और जम्मू और कश्मीर में फॉर्वर्ड लोकेशन का भी दौरा करेंगे।

क्या कहा राजनाथ सिंह ने?
रक्षामंत्री राजनाथ सिंह शुक्रवार सुबह भारतीय वायुसेना के विशेष विमान के जरिए दिल्ली से लेह के कुशक बाकुला रिंपोशे एयरपोर्ट पर पहुंचे। लेह की यात्रा पर निकलने से पहले उन्होंने ट्वीट कर कहा, 'दो दिवसीय लद्दाख और जम्मू-कश्मीर की यात्रा पर लेह के लिए रवाना हो रहा हूं। मैं सीमाओं पर स्थिति की समीक्षा करने और क्षेत्र में तैनात सशस्त्र बल के जवानों के साथ बातचीत करने के लिए फॉर्वर्ड इलाकों का दौरा करूंगा। इससे पहले राजनाथ सिंह 3 जुलाई को लेह का दौरा करने वाले थे, लेकिन रक्षा मंत्री का ये दौरान अचानक रद्द कर दिया गया और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी वहां पहुंच गए। 

पीएम ने कहा था, इतिहास गवाह है विस्तारवादी ताकतें मिट गई
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 3 जुलाई को जब लेह पहुंचे थे तो उन्होंने सैनिकों को संबोधित किया था। इस दौरान पीएम ने बिना नाम लिए चीन पर निशाना साधा था। पीएम ने कहा था, विस्तारवाद का युग खत्म हो चुका है। अब विकासवाद का समय आ गया है। बीती शताब्दियों में विस्तारवाद ने ही मानवता का सबसे ज्यादा अहित किया। इतिहास गवाह है कि ऐसी ताकतें मिट गई हैं या मुड़ने के लिए मजबूर हुई हैं। वहीं पीएम ने गलवान में शहीद हुए जवानों को याद किया और कहा कि आपने और आपके साथियों ने जो वीरता दिखाई उसने पूरी दुनिया में ये संदेश दिया कि भारत की ताकत क्या है। पीएम ने कहा कि देश के वीर सपूतों ने गलवान घाटी में जो अदम्य साहस दिखाया, वो पराक्रम की पराकाष्ठा है। 

कमेंट करें
j5vkz