comScore

दिल्ली : किसान खेतों में सोलर पैनल लगवा कर हासिल करेंगे किराया

October 14th, 2020 20:30 IST
 दिल्ली : किसान खेतों में सोलर पैनल लगवा कर हासिल करेंगे किराया

हाईलाइट

  • दिल्ली : किसान खेतों में सोलर पैनल लगवा कर हासिल करेंगे किराया

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (आईएएनएस)। दिल्ली के किसान अपने खेत में थोड़ी उंचाई पर सोलर पैनल लगवा कर कंपनी से किराया प्राप्त कर सकते हैं। इससे उन्हें प्रति एकड़ लगभग एक लाख रुपये का किराया मिल सकता है। इसके साथ ही वह खेती भी कर सकते हैं।

दिल्ली के लेडी इरविन कॉलेज में बुधवार को 218 किलोवॉट क्षमता के सोलर पावर प्लांट का उद्घाटन किया गया। सोलर पॉवर प्लांट का उद्घाटन करने के बाद सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा, चार साल पहले तक दिल्ली में संभवत 7 किलोवॉट सोलर एनर्जी पैदा की जा रही थी, जो वर्तमान में बढ़कर 177 मेगावॉट हो गई है। इसे एक जन आंदोलन बनाना होगा, ताकि इसे आरडब्ल्यूए, स्कूल-कॉलेज, सरकारी और निजी भवनों समेत सभी जगह लगाया जा सके। हमने दिल्ली में चल रहे दोनों थर्मल पावर प्लांट बंद कर दिए।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, आज मुझे लेडी इरविन कॉलेज में 218 किलोवॉट सोलर पावर प्लांट का उद्घाटन करते हुए बेहद खुशी हो रही है। सोलर पावर के क्षेत्र में अभी बहुत ज्यादा हमारी उपलब्धि नहीं है। ऐसे में जब लेडी इरविन कॉलेज जैसे संस्थान सामने आकर पहल करते हैं, तो वो सभी दूसरे संस्थानों के लिए एक मिसाल और उदाहरण बनते हैं।

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि, पिछले कुछ सालों में सोलर एनर्जी के लिए हमने एक तरह से दिल्ली में पॉलिसी फ्रेमवर्क तैयार किया। मोटे तौर पर दिल्ली सरकार दो पॉलिसी लेकर आई। पहली पॉलिसी थी, जिससे सोलर पावर जेनरेशन आम नागरिक तक पहुंच सके। कहा जाता था कि सोलर पावर काफी महंगा है और एक आम आदमी सोलर पावर कैसे खरीदेगा।

दिल्ली सरकार ने इसके लिए एक पॉलिसी बनाई। पॉलिसी के तहत अगर आप अपने घर की सिर्फ छत दे दें, तो आपके पास एक कंपनी आएगी और वह अपना पैसा लगाकर सोलर पावर पैनल लगाएगी। उस कंपनी को सोलर पावर पैनल लगाने के लिए दिल्ली सरकार सब्सिडी देगी, ताकि उसका शुरूआती खर्चा कम हो जाए।

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि, दूसरी पॉलिसी खासकर किसानों के लिए है। किसान अगर अपने खेत के ऊपर थोड़ी सी उंचाई पर सोलर पैनल लगाने की इजाजत दे दें, तो उनके सारे खेत के ऊपर सोलर पैनल लग जाएंगे। उस किसान को सोलर पैनल लगाने वाली कंपनी जगह देने के बदले में किराया देगी और साथ में किसान अपनी जमीन के ऊपर खेती भी कर सकता है। वह सोलर पावर कंपनी से करीब 1 लाख रुपये प्रति एकड़ उसी जमीन से कमाने लगेगा।

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा, चार साल पहले हमारे दिल्ली में शायद कुल सोलर पावर उत्पादन करीब 7 मेगावॉट था, जो आज चार साल में बढ़कर 177 मेगावॉट हो गया है, लेकिन यह भी बहुत ज्यादा नहीं है।

उल्लेखनीय है कि डीएमआरसी ने दिल्ली में 20 मेगावॉट से अधिक सौर परियोजनाएं स्थापित की हैं। इससे डीएमआरसी को रीवा अल्ट्रा मेगा सोलर पॉवर प्रोजेक्ट (कुल क्षमता 750 मेगावॉट) से लगभग 50 मेगावॉट बिजली भी मिल रही है।

जीसीबी/एएनएम

कमेंट करें
nNg4u