मध्य प्रदेश: जबलपुर संभाग में यूरिया परिवहन में गड़बड़ी, एफआईआर दर्ज करने के निर्देश

September 9th, 2022

हाईलाइट

  • दोषियों के विरुद्ध एक्शन

डिजिटल डेस्क, भोपाल। मध्य प्रदेश के जबलपुर संभाग में यूरिया के परिवहन में बड़ी गड़बड़ी सामने आई है। जो खाद वितरण के लिए तय स्थान पर भेजी जाना थी उसे निजी स्थानों पर भेज दिया गया। लिहाजा किसानों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इस मामले के खुलासे पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने परिवहनकर्ताओं पर एफआईआर दर्ज कर गिरफ्तारी के निर्देश दिए हैं।

आधिकारिक तौर पर दी गई जानकारी में बताया गया है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार की सुबह मुख्यमंत्री आवास पर प्रमुख सचिव कृषि, प्रमुख सचिव सहकारिता, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री, एमडी मार्कफेड सहित जबलपुर संभाग के कमिश्नर आईजी कलेक्टर एसपी को बैठक में बुलाया। जबलपुर से अधिकारी वीडियो कॉन्फ्रें सिंग से जुड़े।

जबलपुर संभाग आयुक्त ने मुख्यमंत्री को बताया कि यूरिया खाद के आवंटन की जिम्मेदारी कृभको की थी। 25 अगस्त को जबलपुर में 2600 मीट्रिक टन के रैक लगे थे, कृभको को बता दिया गया था कि किस जिले को कितना आवंटन जाना है।

जबलपुर आयुक्त ने संभाग के जिलेवार आवंटन की जानकारी देते हुए बताया कि कृभको निजी परिवहन कर्ताओ द्वारा विभिन्न जिलों में यूरिया की आपूर्ति करता है। परिवहनकर्ता द्वारा 28 से 31 अगस्त के बीच परिवहन किया गया, लेकिन इन्हें जो स्थान बताए गए थे वहां नहीं पहुंच कर यूरिया निजी स्थानों पर सप्लाई कर दिया गया। कृभको में परिवहन कर्ताओं द्वारा निर्धारित स्थानों पर आपूर्ति कम की गई और कुछ स्थानों पर बिलकुल नहीं करने की सूचना है।

मुख्यमंत्री चौहान ने दोषियों के खिलाफ तत्काल एफआईआर कर उन्हें गिरफ्तार करने और कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। आयुक्त ने बताया कि खाद डाइवर्ट करने पर फर्टिलाइजर मूवमेंट कंट्रोल ऑर्डर का वायलेशन हुआ है। इस मामले में एफआईआर दर्ज की जाएगी।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि हमारे किसानों को खाद से वंचित करने वालों को छोड़ा नहीं जाएगा। जिस समय खाद की आवश्यकता है उस समय ऐसा होना एक गंभीर अपराध है। दोषियों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही की जाए। मुख्यमंत्री चौहान ने जबलपुर पुलिस प्रशासन के अधिकारियों को निर्देश दिए कि खाद वितरण में लगी कंपनियों को समझाने से काम नहीं चलेगा, दोषियों के विरुद्ध एक्शन लेकर बताएं।

 

आईएएनएस

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.