दैनिक भास्कर हिंदी: केरल : तबाही के बाद फीकी पड़ी ओणम की रौनक, कारोबारी रौनक भी गायब

August 25th, 2018

हाईलाइट

  • ओणम दक्षिण भारत का खास त्योहार है। ओणम केरल में मनाया जाने वाला प्रमुख त्योहार है।
  • विनाशकारी बाढ़ और तबाही के कारण केरल में अोणम पर्व की रौनक फीकी पड़ गई है।

डिजिटल डेस्क, केरल। देश के कोने-कोने में मनाएं जाने वाले सांस्कृतिक त्योहारों की रंगीन तस्वीर देखते ही बनती है। भारत की भौगोलिक स्थिति जितनी रंगारंग है उतनी ही विविधता इसके त्योहारों में भी है। इसी तरह का एक त्योहार का ओणम भी है। ओणम दक्षिण भारत का खास त्योहार है। वैसे तो ओणम केरल में मनाया जाने वाला प्रमुख त्योहार है  लेकिन इस साल विनाशकारी बाढ़ और तबाही के कारण केरल में अोणम पर्व की रौनक फीकी पड़ गई है। इस बार न ज्यादा दुकानें दिखाई दे रही हैं और न ही खरीदार।

केरल के मंदिरों में भी ओणम पर सजावट नहीं की गई है। अनाचल में श्री अयप्पा मंदिर के सचिव सुकुमारन नायर कहते हैं, 'इस वर्ष कोई उत्सव नहीं है और हमने मंदिर को सजाया नहीं है क्योंकि लोग बाढ़ के कारण पीड़ित हैं।'