दैनिक भास्कर हिंदी: गठबंधन से बनी सरकार तो देश के विकास पर लग जाएगा ब्रेक- रघुराम राजन

January 24th, 2019

हाईलाइट

  • गठबंधन की सरकार बनाने से विकास की रफ्तार धीमी होगी- रघुराम राजन
  • देश में उद्योगों के अनुकूल माहौल बनाने की जरूरत है- रघुराम राजन
  • कांग्रेस सरकार आने की स्थिति में खुद के वित्त मंत्री बनने की चर्चाओं को भी खारिज किया

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारतीय रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के पूर्व गर्वनर रघुराम राजन ने लोकसभा चुनाव से पहले बनने वाली सरकार को लेकर बड़ा बयान दिया है। राजन ने कहा, अगर देश में गठबंधन से सरकार बनती है तो देश का विकास की रफ्तार बहुत धीमी हो जाएगी। या यूं कहे विकास पर ब्रेक भी लग सकता है। राजन का ये बयान ऐसे समय सामने आया है जब विपक्ष देश में पूर्ण बहुमत की मोदी सरकार के खिलाफ गठबंधन बना रहा है। राजन के बयान को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के उस बयान से जोड़कर देखा जा रहा है। जिसमें पीएम मोदी ने कहा था कि देश मजबूर नहीं मजबूत सरकार चाहता है। 

स्विट्जरलैंड के दावोस (DAVOS) में चल रहे वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम के एक निजी चैनल से बातचीत के दौरान लोकसभा चुनाव से पहले बनाए जा रहे अलग-अलग गठबंधन पर अपनी बात रखी। इस दौरान राजन ने कांग्रेस सरकार आने की स्थिति में खुद के वित्त मंत्री बनने की चर्चाओं को भी खारिज किया। उन्होंने कहा कि मैं कोई राजनीतिज्ञ नहीं हूं, ये सब महज अटकलें हैं। राजन ने कहा, भारतीय अर्थव्यवस्था की चुनौतियों पर राय देते हुए कहा कि देश में उद्योगों के अनुकूल माहौल बनाने की जरूरत है। इसके साथ ही उन्होंने देश में नई सरकार को लेकर भी अपना पक्ष रखा। 

बता दें कि केन्द्र की मोदी सरकार को लोकसभा चुनाव 2019 में रहने के लिए सभी विपक्षी दल मिलकर गठबंधन बना रहे है। मायावती, अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश में अपना अलग गठबंधन बनाया है। राहुल गांधी महागठबंधन पर फोक्स कर रहें। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी गठबंधन की तैयारी में है। गठबंधन सरकार को लेकर रघुराम राजन का यह बयान काफी महत्वपूर्ण है। ये बयान ऐसे वक्त आया है जबकि मोदी सरकार को सत्ता से बेदखल करने के लिए कांग्रेस समेत दूसरे बीजेपी विरोधी दल एक मंच पर आकर चुनावी मैदान में जाने की योजना बना रहे हैं। हालांकि, की गठबंधन की स्थिति बीजेपी के सामने भी आज सकती है। अगर बीजेपी अपने दम पर अच्छा स्कोर नहीं कर पाई तो उसे भी दूसरे दलों की मदद से सरकार चलाने पड़ सकती है। यानी किसी भी स्थिति में ऐसा हो सकता है।

खबरें और भी हैं...