comScore

नितिन गडकरी ने दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे के तीसरे चरण का किया उद्घाटन

October 01st, 2019 08:18 IST
नितिन गडकरी ने दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे के तीसरे चरण का किया उद्घाटन

हाईलाइट

  • नितिन गडकरी ने 1058 करोड़ रुपये की लागत से बने दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे के तीसरे चरण का उद्घाटन किया
  • गडकरी ने एक्सप्रेसवे को विकास का प्रतीक बताया और कहा 2020 तक हर हाल में दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे का काम पूरा कर लेंगे

डिजिटल डेस्क, पिलखुवा। केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने 1058 करोड़ रुपये की लागत से बने दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे के तीसरे चरण का सोमवार को उद्घाटन किया। इस दौरान उनके साथ केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग राज्यमंत्री वी.के. सिंह और उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य मौजूद रहे। गडकरी ने इस मौके पर एक्सप्रेसवे को विकास का प्रतीक बताया और कहा कि जनवरी, 2020 तक हर हाल में दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे का काम पूरा कर लेंगे।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यह एक्सप्रेसवे देश का पहला ऐसा हाईवे है जो त्वरित गति से निर्मित किया गया है, इससे 40 मिनट में हापुड़ से दिल्ली पहुंचा जा सकेगा। नया अलाइनमेंट गुरुग्राम से शुरू होकर एक्सप्रेस-वे रतलाम से मुंबई जाएगा। इस सड़क का निर्माण करने में 16000 करोड़ रुपये की बचत की गई है, इसके माध्यम से 14 घंटे के अंतराल में ही मुंबई पहुंचा जा सकेगा।

उन्होंने कहा कि वह 55 से 60 हजार करोड़ की योजनाओं पर कार्य करने जा रहे है जिसमें ईस्टर्न वेस्टर्न पेरिफेरल-वे का निर्माण सम्मिलित है। नमामि गंगा योजना के अंतर्गत भारत सरकार ने जो धनराशि व्यय की है उससे गंगा प्रदूषण मुक्त होगी और आमजन को निर्मल गंगा जल उपलब्ध हो सकेगा।

गडकरी ने कहा कि हवा में डबल डेकर बस संचालित करने की योजना है, जो 50 करोड़ का प्रोजेक्ट कार्य है। मेट्रो रेल की तकनीक में इससे अधिक व्यय होता है। दिल्ली में लोग पार्किं ग नहीं बनाते हैं, जिससे उनके वाहनों के कारण सड़क पर अतिक्रमण की समस्या बढ़ जाती है।

उन्होंने कहा, सरकार व राज्य सरकार द्वारा किसानों की भूमि अधिग्रहण पर उचित मुआवजा उपलब्ध कराया जा रहा है। ऐसी मार्केट बनाई जाए, जिससे प्रदूषण कम होगा। आम नागरिकों को डॉक्टर के पास जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। प्रोजेक्ट 2 के लिए भूमि अधिग्रहण की समीक्षा के लिए मैं एनएचआई जाऊंगा और हापुड़ से कानपुर जाने के लिए एक्सप्रेसवे बनाए जाने का प्रस्ताव रखूंगा।

उपमुख्यमंत्री मौर्य ने कहा कि लोक निर्माण विभाग की 50 करोड़ रुपये लागत की 3 योजनाओं का लोकार्पण तथा 40 करोड़ की 9 परियोजनाओं का शिलान्यास किया जा रहा है। इस हाईवे को बनाने में 35 माह का समय लगा है। यह सबसे कम समय में तैयार होने वाला एक्सप्रेसवे है। इससे पहले, केंद्रीय मंत्री गडकरी ने यूपी गेट पर प्लास्टिक वेस्ट से बन रही सड़क का हरी झंडी दिखाकर शुभारंभ किया। पूरे प्रोजेक्ट की डिटेल रिपोर्ट का निरीक्षण किया। साथ ही उन्होंने एनएचएआई के अधिकारियों से जानकारी ली।

हापुड़ जिले के पिलखुवा में आयोजित उद्घाटन समारोह में 6 लेन का नेशनल हाईवे व दोनों साइड में दो-दो लेन की सर्विस रोड का मंत्री ने लोकार्पण किया। इस चरण में 22़27 किलोमीटर का नेशनल हाईवे 1058 करोड़ की लागत से बनाया गया है, जिसमें पिलखुवा के अंदर 4़ 68 किलोमीटर की 6 लेन एलिवेटेड रोड, गंग नहर पर बड़े पुल के साथ सात नए छोटे पुल, 11 वाहन अंडरपास, 2 पैदल यात्री अंडरपास, 2 फुटओवर ब्रिज, 6 बड़े और 105 छोटे जंक्शन बनाए गए हैं।

कमेंट करें
8VfRy
NEXT STORY

Paytm Money: अब पेटीएम मनी ऐप से हर कोई कर सकता है स्टॉक मार्किट में  निवेश, कंपनी का 10 लाख निवेशकों को जोड़ने का लक्ष्य

Paytm Money: अब पेटीएम मनी ऐप से हर कोई कर सकता है स्टॉक मार्किट में  निवेश, कंपनी का 10 लाख निवेशकों को जोड़ने का लक्ष्य

डिजिटल डेस्क, दिल्ली। भारत के घरेलु वित्तीय सेवा प्रदाता पेटीएम ने आज घोषणा की है कि इसकी पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी पेटीएम मनी ने देश में सभी के लिए स्टॉकब्रोकिंग की सुविधा शुरू कर दी है। कंपनी का लक्ष्य इस वित्त वर्ष में 10 लाख से अधिक निवेशकों को जोड़ना है, जिसमें अधिकतर छोटे शहरों और कस्बों से आने वाले फर्स्ट टाइम यूजर्स होंगे। इस प्रयास का उद्देश्य उत्पाद के आसान उपयोग, कम मूल्य निर्धारण (डिलीवरी ऑर्डर पर जीरो ब्रोकरेज, इंट्राडे के लिए 10 रुपये) और डिजिटल केवाईसी के साथ पेपरलेस खाता खोलने के साथ निवेश को प्रोत्साहित करना तथा अधिक-से-अधिक लोगों तक पहुंचना है। कंपनी भारत में सबसे व्यापक ऑनलाइन वेल्थ मैनेजमेंट प्लेटफार्म बनने के लिए प्रयासरत है, जो वित्तीय समावेशन के लक्ष्य के तहत आम लोगों तक आसानी से पहुंच सके।

पेटीएम मनी को अपने शुरुआती प्रयास में ही लोगों से भारी प्रतिक्रिया मिली और उसने 2.2 लाख से अधिक निवेशकों को अपने साथ जोड़ लिया। इनमें से, 65% उपयोगकर्ता 18 से 30 वर्ष के आयु वर्ग में हैं, जो दर्शाता है कि नई पीढ़ी अपनी वेल्थ पोर्टफोलियो का निर्माण कर रही है। टियर-1 शहरों जैसे मुंबई, बैंगलोर, हैदराबाद, जयपुर और अहमदाबाद में इस प्लेटफार्म को बड़े स्तर पर अपनाया गया है। ठाणे, गुंटूर, बर्धमान, कृष्णा, और आगरा जैसे छोटे शहरों में भी लोगों का भारी झुकाव देखने को मिला है। यह सेवा सुपर-फास्ट लोडिंग स्टॉक चार्ट्स, ट्रैक मार्केट मूवर्स एंड कंपनी फंडामेंटल्स सुविधाओं के साथ अब आईओएस, एंड्रॉइड और वेब पर उपलब्ध है। पेटीएम मनी ऐप शेयरों पर निवेश, व्यापार और सर्च के लिए प्राइस अलर्ट और एसआईपी सेट करने के लिए आसान इंटरफ़ेस प्रदान करता है।

इस अवसर पर पेटीएम मनी के सीईओ, वरुण श्रीधर ने कहा, "हमारा उद्देश्य वेल्थ मैनेजमेंट सेवाओं को आबादी के बड़े हिस्से तक पहुंचाना है, जो आत्मानिर्भर भारत के लक्ष्य में योगदान करेगी। हमारा मानना है कि यह मिलेनियल और नए निवेशकों को उनके वेल्थ पोर्टफोलियो के निर्माण में सक्षम बनाने का समय है। प्रौद्योगिकी पर आधारित हमारे समाधान शेयर में निवेश को सरल और आसान बनाता है। हम वर्तमान उत्पादों को चुनौती देते रहेंगे और भारत के सर्वश्रेष्ठ उत्पाद का निर्माण करते रहेंगे। हम पेटीएम मनी को सभी भारतीय के लिए एक व्यापक वेल्थ मैनेजमेंट प्लेटफार्म बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। "

इतने कम समय में पेटीएम मनी पर स्टॉक ट्रेडिंग को व्यापक रूप से अपनाया जाना काफी महत्व रखता है। यह हर भारतीय के लिए डिजिटल निवेश को आसान बनाने के कंपनी के प्रयासों की सराहना को भी दर्शाता है। शेयरों में आसान निवेश के साथ, प्लेटफॉर्म उपयोगकर्ता को बाजार के बारे में शोध करने, मार्केट मूवर्स का पता लगाने, अनुकूल वॉचलिस्ट तैयार करने और 50 से अधिक शेयरों के लिए प्राइस अलर्ट सेट करने के अवसर प्रदान करता है। इसके अलावा, उपयोगकर्ता स्टॉक के लिए साप्ताहिक / मासिक एसआईपी सेट कर सकते हैं, और स्टॉक में निवेश को आॅटोमेट कर सकते हैं। बिल्ट-इन ब्रोकरेज कैलकुलेटर के साथ, निवेशक लेनदेन शुल्क का पता लगा सकते हैं और शेयरों को लाभ पर बेचने के लिए ब्रेक-इवेन प्राइस जान सकते हैं। इसके अलावा, स्टॉक ट्रेडिंग के अनुभव को और बेहतर बनाने के लिए एडवांस्ड चार्ट और अन्य विकल्प जैसे कवर चार्ट तथा ब्रैकेट ऑर्डर भी जोड़े गए हैं। इन सुविधाओं के अलावा बैंक-स्तरीय सुरक्षा के साथ निवेशकों के व्यक्तिगत डेटा को सुरक्षित रखते हुए अन्य सुविधाएं भी उपलब्ध होंगी।


पेटीएम मनी के बारे में
पेटीएम मनी वन97 कम्युनिकेशंस की पूर्ण स्वामित्व वाली एक सहायक कंपनी है। वन97 कम्युनिकेशंस भारत की घरेलू वित्तीय सेवा प्रदाता पेटीएम का स्वामित्व भी रखता है। यह देश का सबसे बड़ा ऑनलाइन इंवेस्टमेंट प्लेटफार्म है, और अब इसने उपयोगकर्ताओं के लिए डायरेक्ट म्यूचुअल फंड्स और एनपीएस के अपने वर्तमान आॅफर में स्टॉक्स को भी जोड़ दिया है। पेटीएम मनी का लक्ष्य एक पूर्ण-स्टैक इंवेस्टमेंट और वेल्थ मैनेजमेंट प्लेटफार्म बनना और लाखों भारतीयों तक धन सृजन के अवसरों को पहुंचाना है। बेंगलुरु स्थित मुख्यालय से संचालित इस कंपनी की टीम में 300 से अधिक सदस्य हैं।