comScore

आज से अनशन पर हार्दिक पटेल, यहां लगाई गई धारा 144

August 25th, 2018 12:35 IST
आज से अनशन पर हार्दिक पटेल, यहां लगाई गई धारा 144

हाईलाइट

  • गुजरात के पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने शुरू किया अनिश्चितकालीन अनशन ।
  • हार्दिक पटेल आरक्षण की मांग और किसानों की कर्ज माफी को लेकर अनशन पर हैं।
  • राज्य के सभी पुलिस अधिकारी-कर्मचारियों की छुट्टी रद्द। जूनागढ़ में धारा 144 लगा दी गई है।

डिजिटल डेस्क, अहमदाबाद ।  गुजरात के पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने राज्य में आरक्षण की मांग और किसानों की कर्ज माफी को लेकर अनशन शुरू कर दिया है। शनिवार को हार्दिक पटेल ने अहमदाबाद में अपने घर पर ही अनशन पर शुरू किया। इससे पहले ही जूनागढ़ में धारा 144 लगा दी गई है। दरअसल, हार्दिक ने एलान किया कि था कि वो किसी भी स्थिति में भूख हड़ताल करने का फैसला नहीं बदलेंगे। बता दें कि हार्दिक पटेल को अनिश्चितकालीन अनशन पर बैठने के लिए न ही अहमदाबाद और न ही गांधीनगर में कहीं भी अनशन पर बैठने की अनुमति नहीं मिली। जिसके बाद हार्दिक ने एसजी हाईवे के निकट स्थित अपने आवास पर अनशन करने का फैसला किया है। बता दें कि अहमदाबाद व सूरत के राजद्रोह मामले में पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति के संयोजक हार्दिक पटेल जमानत पर हैं। 

पाटीदारों के लिए आरक्षण मांग और किसानों की कर्जा माफी को लेकर अनशन पर बैठ रहे हैं। आज आज (25 अगस्त) वो दिन है जब हार्दिक पटेल ने अहमदाबाद की जीएमडीसी मैदान की ऐतिहासिक रैली निकाली थी। साल 2015 में निकाली गई इस रैली को 3 साल पूरे हो गये हैं। ऐसे में उनका अनशन पर बैठना चौंकाने वाला फैसला है। हार्दिक पटेल के अनशन के लिए राजधानी गांधीनगर में सत्याग्रह छावनी की इजाजत सरकार द्वारा खारिज किए जाने के बाद गुजरात सरकार और प्रशासन ने हार्दिक पटेल के घर के आस-पास सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए हैं।  

हार्दिक पटेल के अनशन को लेकर किसी भी प्रकार की अराजकता न फैले इस लिए सरकार ने खास प्लान तैयार किया है। हार्दिक पटेल के अनशन को देखते हुए राज्य के सभी पुलिस अधिकारी और कर्मचारियों की छुट्टी भी रद्द कर दी गई है। अकेले अमहादाबाद पूर्व में तीन डीसीपी, आठ एसपी, 35 इंसपेक्टर स्थिति पर निगरानी रखेंगे। इसके अलावा 250 पीएसआई और 3000 पुलिस कर्मचारी बंदोबस्त में तैनात किए जा रहे हैं।  प्रशासन ने अहमदाबाद पूर्व में करीब 500 ठिकानों पर वीडियोग्राफी के इंतजाम और सोशल मीडिया पर नजर रखने के लिए भी एक टीम का गठन किया है। इसके अलावा किसी भी प्रकार की अराजकता फैलाने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई और मामला दर्ज करने के आदेश दिए गए हैं। 

कमेंट करें
bEapz