comScore

जेल में ही रहेंगे लालू, सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की जमानत याचिका


हाईलाइट

  • सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की लालू यादव की जमानत याचिका।
  • मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पीठ मे की सुनवाई।
  • स्वास्थ्य के आधार पर बाहर आना चाहते थे लालू।

डिजिटल डेस्क, दिल्ली। राष्ट्रीय जनता दल के मुखिया और चारा घोटाले में आरोपी लालू प्रसाद यादव फिलहाल जेल में ही रहेंगे। बुधवार को सुप्रीम कोर्ट ने चारा घोटाले में जेल में बंद आरजेडी चीफ लालू प्रसाद यादव की जमानत याचिका खारिज कर दी है। मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पीठ ने ये फैसला लिया है। लालू रांची के रिम्स अस्पताल में अपना इलाज करा रहे हैं। लालू स्वास्थ्य के आधार पर बाहर आना चाहते थे, लेकिन सीबीआई का कहना था कि बाहर आकर वह राजनीति करेंगे।

बता दें कि साल 1980 के बाद पहली बार ऐसा देखने को मिल रहा है कि कोई लोकसभा चुनाव लालू प्रसाद की गैरमौजूदगी में लड़ जा रहा है। लालू की जगह उनके दोनों बेटे चुनाव में ताकत झोंक रहे हैं। भले ही राष्ट्रीय जनता दल की कमान लालू के हाथों में है, लेकिन पार्टी उनकी कमी को महसूस कर रही है। बेटे तेजप्रताप और तेजस्वी बीजेपी और जदयू को उस तरह से नहीं घेर पा रहे है जैसे लालू घेरते हैं। उनके बेटे तेजस्वी मेहनत कर रहे हैं, लेकिन बिहार की जनता लालू के भाषणों को मिस कर रही है। 

अस्पताल से चला रहे है राजनीतिक गतिविधियां 
सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट में लालू को लेकर कहा था कि लालू का मामला ऐसा है जिसमें जमानत देने से उच्च पदों पर भ्रष्टाचार में संलिप्तता के मामलों में बहुत ही गलत परंपरा बढ़ेगी। सीबीआई ने ये भी कहा था, पिछले आठ महीने से भी अधिक समय से लालू प्रसाद यादव अस्पताल में हैं और राजनीतिक गतिविधियों में संलिप्त हो रहे हैं। सीबीआई ने अपने जवाब में कहा, लालू यादव को अस्पताल में रहने की अवधि में न सिर्फ सभी सुविधाओं वाला विशेष वार्ड दिया गया है बल्कि एक तरह से वह वहां से राजनीतिक गतिविधियां चला रहे हैं। लालू जब जेल में थे तब बीमार थे अब अस्पताल में आकर एक दम ठीक हो गए हैं और जमानत चाहते है।

कमेंट करें
bM4yG