दैनिक भास्कर हिंदी: राजनाथ सिंह ने माउंट एवरेस्ट पर फतह करने पर बीएसएफ की टीम को किया सम्मानित

June 6th, 2018

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। सीमा सुरक्षा बल का पर्वतारोही दल दूसरी बार माउंट एवरेस्ट के अंतिम छोर को स्पर्श कर वापस भारत लौटा है। गृहमंत्री राजनाथ सिंह मंगलवार को दिल्ली में आयोजित हुए सम्मान समारोह में रिकार्ड सात बार मांउट एवरेस्ट पर सफलतापूर्वक चढने वाले विजेता पर्वतारोही दल को सम्मानित किया। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि इस दल ने 20 मार्च को अपनी यात्रा आरंभ करते हुए 1 जून को सकुशल वापसी की है। जवानों का यह अभियान इस मायने में खास रहा कि सभी 15 सदस्यों ने एवरेस्ट की ऊंचाईयों को न केवल फतह किया बल्कि अन्य पर्वतारोही दलों द्वारा हिमालय मे छोड़े गए तकरीबन 700 किलो वजनी कूड़ा भी वापस लेकर आए।

 

 

इस टीम ने एक राष्ट्रीय रिकॉर्ड भी कायम किया है। गृहमंत्री ने कहा " जिस भी कार्यक्रम मैं जाता हूं मैं हमेशा बीएसएफ बल के बारे में गर्व से बात करता हूं।

 

 

यह पहली बार नहीं है जब एवरेस्ट को बढ़ा दिया गया है, लेकिन मैं हमेशा एक अलग दृष्टिकोण से बीएसएफ के प्रयासों को देखता हूं।" इससे पहले कि 23 लोग माउंट एवरेस्ट को जीतना चाहते थे, लेकिन केवल 15 सफल रहे। कार्यक्रम के दौरान गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने पर्वतारोहियों को सम्मानित किया। सम्मान के तौर पर गृहमंत्री ने इस टीम को एक लाख रुपये का चेक भी प्रदान किया। 

 

 

लवराज सिंह धर्मशक्तु टीम का  नेतृत्व

 

इसका नेतृत्व सीमा सुरक्षा बल के सहायक कमांडेंट एवं पद्मश्री सम्मान से सम्मानित लवराज सिंह धर्मशक्तु ने किया। लवराज सिंह सातवीं बार एवरेस्ट पर विजय पताका फहराने वाले पहले भारतीय हैं। कमांडेंट लवराज सिंह ने बताया, ‘हमने फटे हुए टेंट, सिलेंडर और 1972 के ऑक्‍सीजन सिलेंडर जैसी एंटीक चीजें इकट्ठा की। गैस सिलेंडर पर तारीख लिखी हुई थी और इससे हमें पता चला कि तब से अब तक कितना बदलाव आ गया है। पिछला ऐसा रिकॉर्ड थलसेना के नाम था जब इसकी 14 सदस्यीय टीम ने 8,848 मीटर ऊंची चोटी पर चढ़ाई में कामयाबी हासिल की थी। 

 

 

मंत्री राठौड़ ने दल को किया था ध्वजांकित

 

20 मार्च 2018 को `स्वच्छ हिमालय स्वच्छ ग्लेशियर'' के आदर्श लक्ष्य के साथ सीमा सुरक्षा बल के 25 सदस्यों के दल को खेल राज्यमंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने ध्वजांकित कर शुभकामना संदेश देकर रवाना किया था। राठौड़ ने अभियान दल के कमान अधिकारी पदश्री लवराज सिंह धर्मशक्तु और डिप्टी कमान अधिकारी अविनाश नेगी के साथ दल के सभी सदस्यों को बधाई देते हुए कहा कि निश्चित ही यह अभियान विश्व को दल के माध्यम से पर्यावरण के प्रति संदेश देने का एक उत्कृष्ट उदाहरण है।  

 

 

प्रधान मंत्री भी कर चुके हैं सराहना

पिछले दिनों 'स्वच्छ गंगा' अभियान के तहत BSF के एक ग्रुप ने एवरेस्ट की चढ़ाई की, पर पूरी टीम एवरेस्ट से ढेर सारा कूड़ा अपने साथ नीचे उतार कर लाई। इस टीम के कार्य की सराहना करते हुए 27 मई 2018 को प्रसारित हुए कार्यक्रम मन की बात में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा - ''एवरेस्ट पर चढ़ाई करने वाले कुछ ऐसे भी हैं जिन्होंने दिखाया कि उनके पास न केवल स्किल है, बल्कि वे सेंसिटिव भी हैं।
 

Image result for मन की बात में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी 27 मई