दैनिक भास्कर हिंदी: जयंती विशेष: स्वामी विवेकानंद की कही 10 बातें जो बदल सकती हैं आपकी जिंदगी

January 12th, 2019

हाईलाइट

  • विश्व धर्म सम्मेलन में किया था भारत का प्रतिनिधित्व
  • हिंदू धर्म पर विवेकानंद ने दिया था भाषण
  • तीन साल तक अमेरिका में रहकर किया धर्म का प्रचार

डिजिटल डेस्क, भोपाल। अपनी आखिरी सांस तक समाज की भलाई के लिए काम करने वाले स्वामी विवेकानंद की 12 जनवरी को पुण्यतिथि है। कलकत्ता में 12 जनवरी 1863 को जन्मे विवेकानंद का असली नाम नरेंद्र नाथ दत्त था। आइए जानते हैं विवेकानंद की कही गईं 10 बातें जो आज भी लोगों में ऊर्जा का संचार करती हैं।

आज देश विवेकानंद की 156वीं जयंती मना रहा है। महज 25 साल की उम्र में विवेकानंद ने सांसारिक मोह माया को त्यागकर संन्यासी जीवन अपना लिया था। स्वामी विवेकानंद की कही बातें दुनिया भर को प्रेरणा देती हैं। उनकी जयंती को युवा दिवस के रूप में देश भर में मनाया जाता है। अमेरिका में 11 सितंबर 1893 में हुए विश्व धर्म सम्मेलन में विवेकानंद ने हिंदू धर्म पर ऐसा भाषण दिया था कि पूरा संसद तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा था। इसके बाद तीन साल तक विवेकानंद ने अमेरिका में रहकर धर्म का प्रचार किया था।

 

1. हमें तब तक सीखते रहना चाहिए, जब तक हम जीवित हैं, क्योंकि अनुभव ही सबसे अच्छा शिक्षक है। 

2. ज्ञान हर जगह विद्यमान है, मनुष्य सिर्फ उसका अविष्कार करता है।

3. सबसे बड़ा पाप खुद को कमजोर समझना है।

4. दिल और दिमाग का टकराव होने पर हमेशा दिल की बात सुननी चाहिए।

5. हम जितना भी दूसरों का भला करेंगे, हमारा ह्रदय उतना ही शुद्ध होगा।

6. ब्रह्मांड की सारी शक्तियां हमारी हैं, लेकिन हम अपनी आंखों पर हाथ रख लेते हैं।

7. भगवान पर विश्वास करने से पहले इंसान को खुद पर विश्वास करना चाहिए।

 8. किसी की मदद के लिए हाथ नहीं बढ़ा सकते तो हमें उसकी निंदा करने का भी अधिकार नहीं है।

9. जब लोग तुम्हारी बुराई करें तो बदले में उन्हें आशीर्वाद देना चाहिए।

10. इंसान की आत्मा के अलावा कोई और उसका गुरू नहीं हो सकता है।