comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

Cyber Attacks: देश में पिछले आठ महीने में हुए 7 लाख साइबर हमले- केंद्र सरकार

Cyber Attacks: देश में पिछले आठ महीने में हुए 7 लाख साइबर हमले- केंद्र सरकार

हाईलाइट

  • लोकसभा में बसपा सांसद ने साइबर हमलों पर पूछा था सवाल
  • IT मिनिस्ट्री ने बताया- इस साल अगस्त तक करीब 7 लाख अटैक हुए

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारत में साइबर हमले की घटनाओं में लगातार इजाफा हुआ है। 2020 में आठ महीने के भीतर करीब सात लाख बार साइबर अटैक की घटनाएं हुई हैं। लोकसभा में सोमवार को पूछे गए एक सवाल के जवाब में केंद्र सरकार ने यह जानकारी दी। बताया गया कि, 2015 में 49,455 साइबर अटैक हुए थे, वहीं अगस्त 2020 तक कई गुना ज्यादा 6,96,938 यानी करीब सात लाख घटनाएं हुई हैं।

भारत में साइबर हमले में वृद्धि के क्या कारण हैं?
दरअसल, बहुजन समाज पार्टी के सांसद रितेश पांडेय ने सोमवार को लोकसभा में एक अतारांकित सवाल करते हुए पूछा था, पिछले पांच वर्षों के दौरान प्रतिवर्ष कितने भारतीय नागरिकों और भारत में कंपनियों को साइबर अटैक का सामना करना पड़ा है? क्या सरकार को इस बात की जानकारी है कि भारत की पहचान सर्वाधिक साइबर हमलों में से शीर्ष पांच देशों में की गई है। भारत में साइबर हमले में वृद्धि के क्या कारण हैं?

2015 से 2020 तक के हमलों का आंकड़ा
इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्यौगिकी राज्यमंत्री संजय धोत्रे ने इस सवाल का लिखित जवाब देते हुए पिछले पांच वर्ष में साइबर अटैक से जुड़े मामलों की जानकारी दी। उन्होंने बताया, भारतीय कंप्यूटर आपात प्रतिक्रिया दल (सर्ट इन) की रिपोर्ट के मुताबिक, 2015 में 49455, 2016 में 50362, 2017 में 53117, 2018 में 208456, 2019 में 394499 और अगस्त 2020 तक 696938 साइबर सुरक्षा से जुड़ीं घटनाएं हुईं।

उन्होंने मार्च, 2020 में एक वेंडर के मीडिया आर्टिकल के दावे को खारिज कर दिया, जिसमें कहा गया था, भारत उन पांच शीर्ष देशों में से एक है, जहां सर्वाधिक मात्रा में साइबर हमले होते हैं। मंत्री ने कहा, ऐसी वेंडर रिपोर्ट वैध नहीं है।

साइबर हमलों को रोकने के लिए सरकार ने किए कई उपाय
मंत्री ने बताया, इंटरनेट और मोबाइल फोन के बढ़ते इस्तेमाल से देश में और वैश्विक स्तर पर साइबर सुरक्षा की घटनाओं की संख्या में वृद्धि हुई है। सरकार ने साइबर सुरक्षा की स्थिति में सुधार करने और साइबर हमलों को रोकने के लिए कई उपाय किए हैं। मसलन, कंप्यूटर और नेटवर्क की सुरक्षा के लिए समय-समय पर दिशा-निर्देश जारी होते हैं। सरकार ने साइबर हमलों और साइबर आतंकवाद का सामना करने के लिए सभी मंत्रालयों, विभागों और संगठनों के लिए साइबर आपदा प्रबंधन योजना बनाई है और साइबर स्वच्छता केंद्र शुरू किया है।

कमेंट करें
PUt7R