दैनिक भास्कर हिंदी: जम्मू-कश्मीरः सुरक्षाबलों ने पुंछ सेक्टर में दो आतंकी ढेर किए, एक गिरफ्तार

December 14th, 2020

हाईलाइट

  • तीन आतंकियों में से दो को सुरक्षाबलों ने मार​ गिराया
  • सुरक्षाबलों की संयुक्त टीम इस ऑपरेशन को अंजाम दे रही

डिजिटल डेस्क, श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में आतंकवादियों और सुरक्षाबलों के बीच रविवार को हुई 3 घंटे की मुठभेड़ में दो आतंकवादियों को मार गिराया, जबकि उनके एक सहयोगी को गिरफ्तार कर लिया है। सुरक्षाबलों की संयुक्त टीम इस ऑपरेशन को अंजाम दिया। तीनों आतंकी पाकिस्तान की ओर से घुसपैठ करके कश्मीर में दाखिल हुए थे। इलाके में कुछ और आतंकियों के छिपे होने की खबर है। सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके को घेरकर सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया है।

बता दें कि मुगल रोड डुगरान पोशाना इलाके में आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिलने के बाद सुरक्षाबलों द्वारा तलाशी अभियान चलाया गया था। इसी दौरान खुद को घिरता देख आतंकियों ने सुरक्षाबलों को निशाना बनाते हुए फायरिंग शुरू कर दी। जम्मू-कश्मीर पुलिस के मुताबिक आतंकियों को समर्पण करने का मौका दिया गया, बावजूद इसके आतंकियों की ओर से सुरक्षाबलों को निशाना बनाया गया। इसके बाद जवानों ने मोर्चा संभाला और मुठभेड़ शुरू हो गई। इस दौरान सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को ढेर कर दिया और एक आतंकी को गिरफ्तार कर लिया। 

बीते बुधवार को ही राज्य के पुलवामा जिले में सुरक्षाबलों ने तीन आतंकवादियों को मार गिराया था। इस गोलीबारी में एक स्थानीय नागरिक भी घायल हो गया था। पुलिस अधिकारियों से मिली जानकारी के बाद सुरक्षाबलों ने पुलवामा के तिक्कन इलाके में सर्च ऑपरेशन चलाया था। उन्होंने बताया कि आतंकवादियों की तरफ से पहले गोलीबारी शुरू की गई थी।

हाल ही में जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तान ने अपनी गतिविधियां तेज कर दी हैं। कुछ हफ्तों पहले ही सुरक्षाबलों को नगरोटा शहर में बड़ी सफलता मिली थी। जवानों ने जैश-ए-मोहम्मद के 4 आतंकियों को मार गिराया था। अधिकारियों ने जानकारी दी थी कि आतंकवादी एक ट्रक में छिपकर आए थे। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ये आतंकी 26/11 की बरसी पर बड़े हमले की साजिश कर रहे थे।

चुनाव में खलल डालने की तैयारी थी
तीनों आतंकी साउथ कश्मीर जाने की फिराक में थे। उनके कब्जे से बड़ी मात्रा में हथियार और गोला-बारूद बरामद किया गया है। आईजी जम्मू मुकेश सिंह ने बताया कि इन आतंकियों का मकसद जिला विकास परिषद (DDC) चुनावों में खलल पहुंचाने का था। पकड़े गए आतंकी से पूछताछ की जा रही है। इससे कई बड़े खुलासे हो सकते हैं।

इस साल 200 से ज्यादा आतंकी मारे गए
जम्मू कश्मीर में इस साल अब तक 200 से ज्यादा आतंकी एनकाउंटर में मारे गए हैं। सुरक्षाबलों के मुताबिक, जून और जुलाई में सबसे ज्यादा आतंकियों का एनकाउंटर हुआ है।