दैनिक भास्कर हिंदी: हिमाचल प्रदेश में स्कूल बस खाई में गिरी, 29 बच्चों समेत 32 की मौत

April 10th, 2018

डिजिटल डेस्क, शिमला। हिमाचल प्रदेश में एक भीषण सड़क हादसे में 29 बच्चे, 2 टीचर समेत 32 लोगों की मौत हो गई। ये हादसा उस वक्त हुआ जब वज़ीर राम सिंह पठानिया स्कूल की बस बच्चों को छोड़ने घर जा रही थी। बस करीब 200 फीट गहरी खाई में गिरी, इस कारण राहत और बचाव कार्य में भी दिक्कतों का सामने करना पड़ रहा है। हादसे की जानकारी मिलने के बाद राज्य के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने गहरा दुख जताते हुए मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए है। वहीं मृतकोें के परिजनों को पांच-पांच लाख रुपए की सहायता राशि देने की घोषणा भी सीएम ने की है।

 



 

पीएम मोदी का ट्वीट


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हादसे पर गहरा दुख व्यक्त किया है। उन्होंने कहा, 'कांगड़ा में बस दुर्घटना में हुई मौतों से दुखी हूं। मेरी संवेदनाएं उन लोगों के साथ है, जिन्होंने हादसे में अपनों को खोया है।

 

 

 

 

 

13 साल से कम उम्र के थे सभी बच्चे


घटना कांगड़ा जिले के नूरपुर इलाके की है। शाम करीब 4.30 बजे ये हादसा हुआ है। बताया जा रहा है कि 42 सीटर बस में 40 से ज्यादा लोग सवार थे। जिसमे करीब 35 बच्चे थे। हादसे का शिकार हुए बच्चों में नर्सरी के बच्चे भी शामिल हैं। सभी बच्चों की उम्र 13 साल से कम है। हिमाचल प्रदेश के परिवहन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने हादसे में 27 बच्चों सहित 30 लोगों की मौत की पुष्टि की है। वहीं घायल बच्चों को सिविल अस्पताल नूरपुर और निजी अस्पताल पठोनकोट भेजा गया है। मृतकों का आंकड़ा बढ़ने की आशंका जताई जा रही है।

 



राहत और बचाव कार्य जारी


इस हादसे के बाद एनडीआरएफ की टीम ने मोर्चा संभालते हुए राहत और बचाव का कार्य कर रही है। एनडीआरएफ की टीम के साथ पुलिस, स्थानीय लोग, डॉक्टर्स की टीम भी मौजूद है। कांगड़ा के पुलिस अधीक्षक संतोष पटियाल ने बताया, घटना जिला मुख्यालय से लगभग 80 किलोमीटर दूर हुई है। हिमाचल प्रदेश के सीएम जयराम ठाकुर ने हादसे पर गहरा दुख जताते हुए मैजिस्ट्रेट जांच के आदेश दे दिए हैं। 

 



ये कहा जयराम ठाकुर ने


सीएम जयराम ठाकुर ने  हादसे के कारणों की उच्च स्तरीय जांच करने का आश्वासन दिया है। वहीं मृतकोें के परिजनों को पांच पांच लाख रुपए की सहायता राशि देने की घोषणा की है। सीएम ने कहा, हादसे की जानकारी मिलते ही एनडीआरएफ की टीम को तत्काल मौके पर रेस्क्यू के लिए लगाया गया है। स्थानीय लोगों की मदद से घटनास्थल पर रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा है। मैंने हादसे की मैजिस्ट्रेट जांच के आदेश दे दिए हैं।'