दैनिक भास्कर हिंदी: CM कुमारस्वामी ने अपने पास रखे 11 मंत्रालय, नाराज एमबी पाटिल दिल्ली रवाना

June 9th, 2018

हाईलाइट

  • कर्नाटक में मंत्रालयों का बंटवारा, कुमारस्वामी के पास 11 विभाग
  • डिप्टी सीएम जी परमेश्वरा को गृह मंत्रालय का प्रभार, नहीं इंटेलिजेंस विभाग का प्रभार
  • कांग्रेस हाईकमान ने नाराज विधायक एमबी पाटिल को दिल्ली तलब किया।

डिजिटल डेस्क, बेंगलुरू। कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन सरकार में मंत्रिमंडल विस्तार हो गया है। काफी उठापटक के बाद मंत्रालयों का भी बंटवारा हो गया है। जहां एक तरफ विधायकों ने बागी रुख अपना लिया था। वहीं दूसरी तरफ सीएम एचडी कुमारस्वामी ने अपने पास 11 मंत्रालय रख लिए हैं। जिसमें वित्त विभाग भी शामिल है। डिप्टी सीएम जी परमेश्वरा के पास गृह मंत्रालय है। गृह मंत्रालय होने के बावजूद जी परमेश्वरा के पास इंटेलिजेंस विभाग का प्रभार नहीं है।


कांग्रेस के डी के शिवकुमार को सिंचाई, मेडिकल शिक्षा और परिवार कल्याण विभाग सौंपा गया है। वहीं, नाराज चल रहे कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यवाहक अध्यक्ष एमबी पाटिल को दिल्ली तलब किया गया है। हाईकमान द्वारा तलब किए जाने के बाद वो दिल्ली के लिए रवाना हो गए हैं। बता दें कि पाटिल के समर्थन में पार्टी के सात से आठ विधायक हैं। ये नाराज विधायक भी पाटिल के साथ दिल्ली को रवाना हो चुके हैं।  

 


कांग्रेस को मिले ये मंत्रालय और विभाग

गृह, बेंगलुरु सिटी डेवलपमेंट, उद्योग और चीनी उद्योग, स्वास्थ्य, राजस्व, शहरी विकास, ग्रामीण विकास, कृषि, आवास, चिकित्सीय शिक्षा, सामाजिक कल्याण, वन और पर्यावरण, श्रम, खनन और भूगर्भ, महिला और बाल कल्याण, खाद्य और नागरिक आपूर्ति, हज/वक्फ और अल्पसंख्यक मामले, कानून और संसदीय मामले, विज्ञान और तकनीकी, खेल और युवा मामले, बंदरगाह और परिवहन विकास। 

 

जेडीएस को मिले ये विभाग

सूचना (जीएडी, इंटेलीजेंस, प्लानिंग), वित्त, पीडब्ल्यूडी, बिजली, को-ऑपरेशन, पर्यटन, शिक्षा, पशुपालन और मछलीपालन, बागवानी और रेशम के कीड़ों का पालन, लघु उद्योग, परिवहन, माइनर इरिगेशन.


एचडी कुमारस्वामी के भाई एचडी रेवन्ना को पीडब्ल्यूडी विभाग दिया गया है। कुमारस्वामी ने अपने पास कैबिनेट अफेयर्स, फाइनैंस और एक्साइज, इंटेलिजेंस विंग, एनर्जी डिपार्टमेंट, इन्फ्रास्ट्रक्चर डिवेलपमेंट डिपार्टमेंट जैसे महत्वपूर्ण मंत्रालय रखे हैं। सीएम और डिटी सीएम को मिलाकर मंत्रिमंडल में कुल 27 लोग हो गए हैं। कांग्रेस की ओर 15 और जेडीएस की ओर से 9 विधायक मंत्री बने। शुक्रवार को सभी 27 मंत्रियों (सीएम और डेप्युटी सीएम सहित) को मंत्री पद बांट दिए गए।