दैनिक भास्कर हिंदी: जानें, चंद्रयान-2 का संपर्क टूटने के बाद कैसे पता चलेगा कहां है लैंडर विक्रम ?

September 8th, 2019

हाईलाइट

  • 95 फीसदी सफल हुआ चंद्रयान मिशन-2- इसरो
  • चंद्रमा की जानकारी ऑर्बिटर से मिलती रहेगी- इसरो
  • लैंडर विक्रम की तस्वीर भेजेगा ऑर्बिटर- इसरो

डिजिटल डेस्क, बेंगलुरु। चंद्रयान-2 का इसरो से संपर्क टूटने के बाद हर किसी के मन में कई सवाल बने हुए हैं। लैंडर विक्रम कहां है ? क्या लैंडर विक्रम क्रैश हो चुका है ? क्या ये मिशन पूरी तरह असफल हो चुका है ? क्या अब चांद की कोई जानकारी इसरो को नहीं मिल सकेगी ? इसरो के वैज्ञानिकों ने इन सभी सवालों के जवाब दिए हैं। 

सवाल- लैंडर विक्रम कहां ? 

जवाब- इसरो के वैज्ञानिक देवीप्रसाद कार्निक ने कहा है कि इस बारे में डाटा का विश्लेषण किया जा रहा है। अभी कुछ भी कह पाना मुश्किल है। ऑर्बिटर चंद्रमा के चक्कर लगा रहा है। ऑर्बिटर लैंडर की तस्वीरें भी लेकर भेज सकता है, जिससे उसकी स्थिति के बारे में पता चल सकता है। 

सवाल- क्या लैंडर विक्रम क्रैश हो चुका है ?

ठजवाब- करीब 47 दिनों की यात्रा के बाद विक्रम लैंडर का संपर्क इसरो से टूटा है। इसरो के चेयरमैन के सिवन ने कहा कि विक्रम लैंडर बिल्कुल सही रास्ते से आगे बढ़ रहा था, लेकिन लैंडिंग से 2.1 किमी पहले उसका संपर्क टूट गया। बिना विश्लेषण के यह कह पाना मुश्किल है कि लैंडर विक्रम क्रैश हुआ है या नहीं । 

सवाल- क्या ये मिशन पूरी तरह असफल हो चुका है ? 

जवाब- इसरो के वैज्ञानिक देवीप्रसाद कार्निक ने बताया मिशन चंद्रयान-2 असफल नहीं हुआ। हमनें 95 फीसदी सफलता हासिल कर ली है।मिशन का सिर्फ पांच प्रतिशत -लैंडर विक्रम और प्रज्ञान रोवर- नुकसान हुआ है, जबकि बाकी 95 प्रतिशत -चंद्रयान-2 ऑर्बिटर- अभी भी चंद्रमा का सफलतापूर्वक चक्कर काट रहा है। 

सवाल- क्या अब चांद की कोई जानकारी इसरो को मिल सकेगी ?

जवाब- हां, इसरो चीफ के सिवन ने कहा है कि ऑर्बिटर चंद्रमा की जानकारी इसरो को देता रहेगा। चांद की तस्वीर ऑर्बिटर द्वारा इसरो को भेजी जाएंगी। इसके साथ ही ऑर्बिटर लैंडर विक्रम की तस्वीर भी इसरो को भेजेगा।

खबरें और भी हैं...