दैनिक भास्कर हिंदी: लोकसभा चुनाव: छिटपुट हिंसा, ईवीएम में गड़बड़ी के बीच हुआ पहले चरण का मतदान

April 12th, 2019

हाईलाइट

  • लोकसभा चुनाव के पहले चरण में गुरुवार को 18 राज्य और दो केंद्रशासित प्रदेश की 91 सीटों पर मतदान किया गया।
  • देशभर में औसत 66 प्रतिशत वोटिंग दर्ज की गई। हालांकि चुनाव आयोग ने अभी फाइनल आंकड़े जारी नहीं किए है।
  • इस दौरान छिटपुट हिंसा, ईवीएम की गड़बड़ी की रिपोर्ट और मतदाताओं का नाम मतदाना सूची में नहीं होने की खुछ शिकायतें मिली।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के पहले चरण में गुरुवार को 18 राज्य और दो केंद्रशासित प्रदेश की 91 सीटों पर मतदान किया गया। देशभर में औसत 66 प्रतिशत वोटिंग दर्ज की गई। त्रिपुरा-बंगाल में 80% से ज्यादा वोटिंग हुई। हालांकि चुनाव आयोग ने अभी फाइनल आंकड़े जारी नहीं किए है। इस दौरान छिटपुट हिंसा, ईवीएम की गड़बड़ी की रिपोर्ट और मतदाताओं का नाम मतदाना सूची में नहीं होने की खुछ शिकायतें मिली। मतदान खत्म होने के बाद ईवीएम और वीवीपैट को स्ट्रांग रूम में ले जाया जा रहा है। पहले चरण के लिए 1 लाख 70 हजार केन्द्रों पर सुबह 7 बजे से मतदान शुरु हो गया था। शांतिपूर्ण तरीके से मतदान हो इसके लिए सभी राज्यों में पुलिस व्यवस्था दुरस्त की गई थी।

किन-किन राज्यों में हुई वोटिंग?
पहले चरण के लोकसभा क्षेत्रों में आंध्र प्रदेश की सभी 25 सीटें, तेलंगाना में 17, उत्तराखंड में पांच, मेघालय में दो, अरुणाचल प्रदेश में दो और मिजोरम, नागालैंड, सिक्किम, अंडमान और निकोबार और लक्षद्वीप की एक सीट शामिल हैं।

इसके अलावा, उत्तर प्रदेश में आठ सीटें, महाराष्ट्र में सात, असम में पांच, बिहार और ओडिशा में चार-चार, जम्मू-कश्मीर और पश्चिम बंगाल में दो-दो और छत्तीसगढ़, त्रिपुरा, मणिपुर में एक सीट भी पहले चरण का हिस्सा थीं। इन राज्यों में मल्टी-फेज हो रही है।

क्या रहा मतदान का प्रतिशत?
चुनाव आयोग के अनुसार, नागालैंड, मिजोरम और सिक्किम में क्रमशः 78 प्रतिशत, 60 प्रतिशत और 69 प्रतिशत, जबकि मणिपुर और त्रिपुरा में 78.2 प्रतिशत और 81.8 प्रतिशत वोटिंग दर्ज की गई। आयोग के अनुसार, असम के पांच निर्वाचन क्षेत्रों में कुल 68 प्रतिशत मतदान हुआ, जबकि पश्चिम बंगाल के दो निर्वाचन क्षेत्रों में 81 प्रतिशत मतदान हुआ।

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के आठ लोकसभा क्षेत्रों में गुरुवार शाम 6 बजे तक लगभग 64 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। पहले चरण में तीन केंद्रीय मंत्री - वी के सिंह (गाजियाबाद), सत्यपाल सिंह (बागपत) और महेश शर्मा (गौतम बुद्ध नगर) मैदान में हैं।

महाराष्ट्र में सात लोकसभा क्षेत्रों में पहले चरण के मतदान में लगभग 55.78 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। जम्मू और कश्मीर में कुल 54.49 प्रतिशत शाम 5 बजे तक (बारामूला में 32.29 प्रतिशत और जम्मू में 67.39 प्रतिशत) दर्ज किया गया था। छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित बस्तर लोकसभा क्षेत्र में लगभग 57 प्रतिशत मतदान हुआ।

आंध्र प्रदेश में सत्तारूढ़ टीडीपी और वाईएसआरसी कैडरों की हिंसा के बीच आंध्र प्रदेश में एकल चरण के विधानसभा और लोकसभा चुनावों में 73 प्रतिशत से अधिक का प्रभावशाली मतदान दर्ज किया गया

चुनाव आयोग ने क्या कहा?
चुनाव आयोग ने कहा कि ईवीएम के खराब होने की घटनाओं में आंध्र प्रदेश में 6, अरुणाचल प्रदेश में 5, बिहार में 1, मणिपुर में 2 और पश्चिम बंगाल में 1 जगह सामने आई। उन्होंने कहा कि अनुमानित 2626 करोड़ रुपये की जब्ती की गई है। बरामदगी में 607 करोड़ रुपये नकद, 198 करोड़ रुपये की शराब, 1091 करोड़ रुपये की नशीली दवाएं और नशीले पदार्थ, 486 करोड़ रुपये की कीमती धातु, फ्रीबीज और 48 करोड़ रुपये की अन्य वस्तुएं शामिल हैं। यह भी कहा कि C-VIGIL ऐप पर दर्ज 70,000 एमसीसी की 70 प्रतिशत शिकायतें सही पाई गईं।

सामने आई छिटपुट हिंसा की ख़बरें 
टीडीपी के एन चंद्रबाबू नायडू, AAP के अरविंद केजरीवाल और पीडीपी की महबूबा मुफ़्ती सहित कई दलों के प्रमुखों के साथ आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ से छिटपुट हिंसा की ख़बरें सामने आई। आंध्र प्रदेश में जहां 25 लोकसभा और 175 विधानसभा सीटों के लिए चुनाव हुए, सत्तारूढ़ तेलुगु देशम पार्टी के एक और मुख्य विपक्षी वाईएसआर कांग्रेस के एक कार्यकर्ता की अनंतमामु जिले के तड़ीपात्री विधानसभा क्षेत्र के एक गाँव में हुई झड़प में मौत हो गई।

पुलिस ने कहा कि महाराष्ट्र में नक्सलियों ने गढ़चिरौली जिले के वाघेजारी इलाके में एक मतदान केंद्र के पास एक आईईडी विस्फोट किया। इस घटना में किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। बाद में दिन में, जिले के एतापल्ली में एक आईईडी विस्फोट में एक पोल पार्टी में भाग ले रहे दो पुलिस कमांडो घायल हो गए।

मतदान प्रक्रिया के दौरान छत्तीसगढ़ के नक्सल गढ़ बीजापुर जिले में चार गुरिल्ला को गिरफ्तार किया गया और उनके पास से फायरआर्म जब्त किए गए। सुबह के शुरुआती घंटों में बस्तर क्षेत्र के नारायणपुर में नक्सलियों ने एक आईईडी विस्फोट किया। यहां भी किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है।

असम के डिब्रूगढ़ जिले में, चाय बागान से गुजरने वाली एक ऑइल पाइपलाईन में आईडी डिटेक्ट किया गया। इसकी सूचना मिलते ही सुरक्षा बल मौके पर पहुंच गए ताकि किसी तरह की कोई अप्रिय घटना न हो।

पुलिस ने कहा, पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कैराना में बीएसएफ कर्मियों को मतदान केंद्र पर हवा में गोलीबारी करनी पड़ी। दरअसल, कुछ लोगों के पास अपने पहचान पत्र नहीं थे और वह जबरन वोट डालने के लिए परिसर में घुसने की कोशिश कर रहे थे। 

खबरें और भी हैं...