comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

मप्र: कांग्रेस ने साधा ज्योतिरादित्य सिंधिया पर निशाना, कहा- 17 साल सांसद बनाया, फिर भी...

मप्र: कांग्रेस ने साधा ज्योतिरादित्य सिंधिया पर निशाना, कहा- 17 साल सांसद बनाया, फिर भी...

हाईलाइट

  • ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस से दिया इस्तीफा
  • मप्र कांग्रेस ने ट्वीट कर साधा ज्योतिरादित्य सिंधिया पर निशाना

डिजिटल डेस्क, भोपाल। कांग्रेस पार्टी के दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने मंगलवार को पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने अपना इस्तीफा पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) को सौंपा है। उनके इस्तीफा देते ही मध्यप्रदेश से लेकर दिल्ली तक राजनीति में भूचाल आ गया है। सिंधिया जल्द ही भाजपा का दामन थाम सकते हैं।

इधर कांग्रेस (Congress) भी सिंधिया के फैसले के बाद हमलावर हो गई है। पार्टी उनपर निशाना साध रही है। मध्यप्रदेश कांग्रेस (Madhya Pradesh Congress) ने एक ट्वीट किया है। उन्होंने बताया है कि कांग्रेस पार्टी ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को क्या-क्या दिया है। ट्वीट में लिखा है, सिंधिया जी की 18 साल की राजनीति में कांग्रेस ने 17 साल सांसद बनाया, 2 बार केंद्रीय मंत्री, मुख्य सचेतक, राष्ट्रीय महासचिव, यूपी का प्रभारी, कार्यसमिति सदस्य, चुनाव अभियान प्रमुख बनाया, 50 से ज्यादा टिकट, 9 मंत्री दिए। फिर भी मोदी-शाह की शरण में?

कांग्रेस से इस्तीफा देने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मीडिया से कही ये बात

पार्टी ने एक और ट्वीट किया है और लिखा है कि पूरी कांग्रेस एक है। मप्र में मुख्यमंत्री कमलनाथ जी के नेतृत्व में बनी कांग्रेस सरकार पूरी तरह से एकजुट और सुरक्षित है। बीजेपी की फूट डालो, राज करो की साजिश कभी कामयाब नहीं होगी। हमारे सभी विधायक प्रदेश की जनता के प्रति जवाबदारी, अपना फर्ज और नैतिकता समझते हैं। 

बुआ यशोधरा ने ज्योतिरादित्य के फैसले पर जताई खुशी
ज्योतिरादित्य सिंधिया के इस्तीफे के बाद उनके परिवार में खुशी की लहर है। भाजपा नेता और ज्योतिरादित्य की बुआ यशोधरा राजे (Yashodhara Raje) ने इसे साहसिक कदम बताया है। शिवपुरी से विधायक यशोधरा राजे ने ट्वीट किया कि राजमाता के रक्त ने लिया राष्ट्रहित में फैसला साथ चलेंगे, नया देश गढ़ेंगे, अब मिट गया हर फासला। ज्योतिरादित्य सिंधिया द्वारा कांग्रेस छोड़ने के साहिक कदम का मैं आत्मीय स्वागत करती हूं। 

कांग्रेस में युवा नेताओं का हो रहा अपमान- शाहनवाज
बीजेपी प्रवक्ता और पूर्व केंद्रीय मंत्री शाहनवाज हुसैन ने ज्योतिरादित्य सिंधिया के इस्तीफा देने का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अपने घर को नहीं संभाल पा रही है। पार्टी के युवा नेताओं का कांग्रेस में अपमान हो रहा है। उन्होंने कहा, 'राजस्थान में सचिन पायलट (Sachin Pilot) के साथ वहीं व्यवहार हो रहा है, जो मप्र में कमलनाथ और कांग्रेस ने सिंधिया के साथ किया।'

कमेंट करें
LXwdY
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।