comScore

मप्र में खाली सीटों की संख्या 27: कांग्रेस के एक और विधायक ने दिया इस्तीफा, 12 दिनों में 3 ने छोड़ा पार्टी का साथ  

मप्र में खाली सीटों की संख्या 27: कांग्रेस के एक और विधायक ने दिया इस्तीफा, 12 दिनों में 3 ने छोड़ा पार्टी का साथ  

हाईलाइट

  • अब 27 विधानसभा सीटों पर होंगे उपचुनाव
  • दो सीटें विधायकों के निधन होने से खाली

डिजिटल डेस्क, भोपाल। मध्यप्रदेश में कांग्रेस विधायकों का भाजपा में शामिल होने का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा है, जो कांग्रेस के लिए सिर दर्द का कारण बन गया है। उपचुनाव की तैयारियों में जुटी कांग्रेस के एक और विधायक ने आज (गुरुवार, 23 जुलाई) इस्तीफा दे दिया। खंडवा जिले की मांधाता विधानसभा से कांग्रेस विधायक नारायण पटेल ने प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा को सौंप दिया। बता दें कि 12 दिन के अंदर पार्टी के तीन विधायकों ने इस्तीफा दे दिया है। इससे पहले इससे पहले कांग्रेस विधायक प्रद्युम्न लोधी और सावित्री देवी कासडेकर ने भी इस्तीफा देकर बीजेपी का दामन थाम लिया था। सावित्री देवी के इस्तीफे के बाद परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने कहा था कि अभी और विधायक कांग्रेस का साथ छोड़ेंगे। इसके साथ ही अब विधानसभा में खाली सीटों की संख्या 27 हो गई है।      

इस तरह कांग्रेस विधायकों ने छोड़ा पार्टी का साथ

  • 10 मार्च: को कांग्रेस के 22 विधायकों ने पार्टी से इस्तीफा देकर बीजेपी का हाथ थाम लिया था और तत्कालीन कमलनाथ सरकार को अल्पमत में लाकर आखिरकार गिरा दिया था।
  • 12 जुलाई: कांग्रेस विधायक प्रद्युमन सिंह लोधी पार्टी से इस्तीफा देकर भाजपा में शामिल हुए।
  • 17 जुलाई: बुरहानपुर जिले के नेपान गगर विधानसभा क्षेत्र से विधायक सुमित्रा देवी कास्डेकर ने लिखित में प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा को विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा सौंपा था। स्पीकर द्वारा उनका इस्तिफा स्वीकार करने के बाद वे भाजपा में शामिल हो गईं। भोपाल स्थित भाजपा कार्यालय पर ​मुख्यमंत्री शि​वराज सिंह चौहान ने उन्हें पार्टी की सदस्यता दिलवाई थी।
  • 23 जुलाई: खंडवा जिले की मांधाता विधानसभा से कांग्रेस विधायक नारायण पटेल ने प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा को सौंपा। 

अब 27 विधानसभा सीटों पर होंगे उपचुनाव
बता दें कि मध्यप्रदेश में कांग्रेस के लिए संकट की शुरुआत ज्योतिरादित्य सिंधिया ने की थी जो अपने 22 विधायकों के साथ भाजपा में शामिल हुए थे। इसके अलावा दो विधायकों के निधन और अब तीन विधायकों की ओर से इस्तीफा दिए जाने के बाद 27 विधानसभा सीट खाली हो गई हैं, जिन पर उपचुनाव होंगे।

दो सीटें विधायकों के निधन होने से खाली
मुरैना जिले की जौरा सीट से कांग्रेस विधायक बनवारी लाल शर्मा का 21 दिसंबर 2019 को निधन हो गया था। इसी साल 30 जनवरी को आगर-मालवा से भाजपा विधायक मनोहर ऊंटवाल का भी बीमारी के कारण निधन हो गया।

विधानसभा में स्थिति

  • मध्य प्रदेश विधानसभा में 230 सदस्य हैं।
  • इनमें 22 पहले ही इस्तीफा दे चुके। 2 का निधन हो चुका।
  • 27 सीटें खाली होने से विधानसभा में कुल 203 सदस्य।
  • कांग्रेस के अब 89 विधायक हैं। 
  • भाजपा के पास 107 विधायक हैं। 
  • 4 निर्दलीय, 2 बसपा और 1 सपा का विधायक।
कमेंट करें
DKkvO