comScore

Coronavirus: राजस्थान के बाद महाराष्ट्र सरकार ने भी बैन की पंतजलि की 'कोरोनिल'


हाईलाइट

  • महाराष्ट्र सरकार ने कोरोलिन पर लगाई पाबंदी
  • कोरोलिन के क्लीनिकल ट्रायल का पुख्ता प्रमाण नहीं- गृहमंत्री अनिल देशमुख
  • राजस्थान सरकार पहले ही कर चुकी है बैन

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। राजस्थान सरकार के बाद अब महाराष्ट्र सरकार ने भी कोरोनावायरस के उपचार के लिए बनाई गई पंतजलि की दवा कोरोलिन को बैन कर दिया है। महाराष्ट्र सरकार के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कोरोलिन दवा के क्लीनिकल ट्रायल को लेकर कहा कि अभी कोई पुख्ता जानकारी नहीं है, ऐसी स्थिति में महाराष्ट्र में इस दवा की बिक्री पर पाबंदी रहेगी। योगगुरु बाबा रामदेव ने दावा किया था कि कोरोलिन दवा कोरोनावायरस के मरीजों को ठीक करने में कारगर साबित होगी। 

गृह मंत्री अनिल देशमुख ने गुरुवार को लिखा, 'नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज, जयपुर यह पता लगाएगा कि क्या पतंजलि के 'कोरोनिल' का क्लीनिकल ट्रायल किया गया था। हम बाबा रामदेव को चेतावनी देते हैं कि हमारी सरकार महाराष्ट्र में नकली दवाओं की बिक्री की अनुमति नहीं देगी। गौरतलब है कि आयुष मंत्रालय की आपत्ति के बाद राजस्थान पहला राज्य बना था, जिसने बाबा रामदेव की दवा कोरोनिल की बिक्री पर रोक लगाई थी। वहीं अब महाराष्ट्र सरकार ने भी इस दवा पर पाबंदी लगा दी है। 

कमेंट करें
GVB9T