दैनिक भास्कर हिंदी: राज्यसभा के कई सूरमा अब लोकसभा चुनाव में दिखाएंगे अपना दम

March 14th, 2019

हाईलाइट

  • 17वीं लोकसभा चुनाव के लिए सियासी पार्टियां हर सीट पर पूरे दमखम से चुनाव में उतरने की तैयारी कर रही हैं।
  • विभिन्न पार्टियों ने राज्यसभा के अपने कुछ अहम चेहरों को भी लोकसभा चुनाव में उतारने की रणनीति बनाई है।
  • भाजपा की स्मृति ईरानी व विजय गोयल, कांग्रेस के दिग्विजय सिंह व कुमारी शेलजा जैसे चेहरों का नाम चर्चा में है।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। 17वीं लोकसभा में किसी भी दल को स्पष्ट बहुमत नहीं मिलने की आशंका के मद्देनजर सियासी पार्टियां हर सीट पर पूरे दमखम से चुनाव में उतरने की तैयारी कर रही हैं। प्रतिद्वन्द्वी उम्मीदवारों पर हर हाल में बढ़त हासिल हो, इसके लिए विभिन्न पार्टियों ने राज्यसभा के अपने कुछ अहम चेहरों को भी लोकसभा चुनाव में उतारने की रणनीति बनाई है। इस कड़ी में भाजपा की स्मृति ईरानी व विजय गोयल, कांग्रेस के दिग्विजय सिंह व कुमारी शेलजा, राजद की मीसा भारती, द्रमुक की कनीमोई, सपा के नीरज शेखर व चंद्रपाल सिंह यादव जैसे चेहरों का नाम चर्चा में है।

अमेठी में फिर होगी राहुल बनाम स्मृति की जंग
जानकारी के मुताबिक 2014 में अमेठी सीट से राहुल गांधी को चुनौती देने उतरीं केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी 2019 में भी इसी सीट से राहुल को चुनौती देने की तैयारी में हैं। यही वजह है कि राज्यसभा में होने के बावजूद स्मृति ने पिछले पांच साल में अमेठी से जीवंत रिश्ता बनाए रखा है। इसी प्रकार राजस्थान से राज्यसभा में पहुंचे केन्द्रीय मंत्री विजय गोयल दिल्ली की अपनी पुरानी सीट चांदनी चौक से चुनाव लड़ने के मूड में हैं। सूत्र बताते हैं कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह भी गोयल को चांदनी चौक से आजमाने के मूड में हैं। चांदनी चौक से मौजूदा सांसद व केन्द्रीय मंत्री डॉ हर्षवर्द्धन को पूर्वी दिल्ली सीट पर भेजे जाने की चर्चा है।

दिग्गी राजा भी उतर सकते हैं चुनावी समर में
कांग्रेस भी 17वीं लोकसभा में अपनी सीटें बढ़ाकर त्रिशंकु संसद की हालत में प्रधानमंत्री पद पर अपनी दावेदारी पुख्ता रखने की कोशिश में है। सूत्र बताते हैं कि पूर्व मुख्यमंत्री व मौजूदा राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह का लोकसभा चुनाव लड़ना लगभग तय है। सिंह राजगढ़ या फिर भोपाल सीट से चुनाव लड़ सकते हैं। मधुसूदन मिस्त्री भी गुजरात की किसी सीट से समर में उतरने की संभावना है। बता दें कि मिस्त्री ने पिछले लोकसभा चुनाव में बडोदरा सीट से चुनाव लड़ा था पर तब भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेन्द्र मोदी से बुरी तरह हारे थे। इसी प्रकार राज्यसभा सदस्य पी एल पुनिया और कुमारी शेलजा को भी कांग्रेस इस चुनाव में झोंक सकती है।

पुराना हिसाब चुकाने मैंदान में उतरेंगी मीसा
सूत्रों का दावा है कि राजद सुप्रीमों लालू प्रसाद यादव की बेटी मीसा भारती एक फिर पाटलीपुत्र से लोकसभा चुनाव लड़ेंगी। 2014 में इस सीट पर मीसा को मौजूदा केन्द्रीय मंत्री रामकृपाल यादव से हार का स्वाद चखना पड़ा था। इसके बाद मीसा ने राज्यसभा की राह पकड़ी थी। पिछली बार बलिया सीट पर चुनाव हार चुके सपा के नीरज शेखर भी फिर से ताल ठोंकने की तैयारी में हैं। पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर के बेटे नीरज इस समय राज्यसभा में हैं। सहकारिता क्षेत्र के जाने-माने नेता और सपा के राज्यसभा सदस्य चंद्रपाल सिंह यादव भी झांसी लोकसभा सीट से भाग्य आजमाना चाहते हैं। इसी प्रकार राज्यसभा में द्रमुक सदस्य कन्नीमोई और राज्यसभा में अन्नाद्रमुक के नेता वी मैत्रेयेन के भी लोकसभा चुनाव लड़ने की चर्चा है।