दैनिक भास्कर हिंदी: महबूबा का केन्द्र पर निशाना, आज मॉब लिंचिंग को जायज बताया कल रेप को बताएंगे

July 25th, 2018

हाईलाइट

  • मॉब लिंचिंग को लेकर महबूबा मुफ्ती ने केन्द्र सरकार पर साधा निशाना।
  • सरकार खाने-पीने की आदतों पर भीड़ द्वारा हत्या किए जाने के पक्ष में दे रही है तर्क।
  • आज लिंचिंग को जायज बता रहे हैं कल रेप की घटनाओं का बताएंगे।


डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। देश में तेजी से बढ़ रहे मॉब लिंचिग के मामलों पर कश्मीर की पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती ने केन्द्र सरकार पर हमला बोला है। महबूबा ने कहा है कि केन्द्र सरकार खाने-पीने की आदतों के नाम पर भीड़ द्वारा हत्या किए जाने के पक्ष में तर्क दे रही है। हो सकता है कल रेप जैसे मामलों में भी इसी तरह के तर्क देखने को मिलें। 

 

 

राजस्थान के अलवर में रकबर की मौत के मामले पर मुफ्ती ने ट्वीट करते हुए कहा "आज कोई क्या खाता है इस बात का सहारा लेकर भीड़ द्वारा जान से मार देने को जायज ठहराया जा रहा है, कल रेप जैसे अपराध के पक्ष में भी तर्क दिया जा सकता है। क्या हम इसी तरह के भारत की कल्पना करते हैं ?

 

Image result for महबूबा

 

इससे पहले आरएसएस के नेता इंद्रेश कुमार ने कहा था कि मुस्लिम समुदाय के लोगों को हिन्दुओं की भावना का सम्मान करना चाहिए और गौहत्या नहीं करनी चाहिए। उन्होंने मॉब लिंचिंग पर अपना तर्क देते हुए कहा था कि अगर मुस्लिम गौवध बंद कर देंगे तो मॉब लिंचिंग अपने आप रूक जाएगी। राजस्थान के गृहमंत्री ने गुलाब चंद कटारिया ने भी मॉब लिंचिंग को लेकर विवादित बयान देते हुए कहा था कि लिंचिंग की घटनाओं पर देश में अलग से कोई कानून बनाने की जरूरत नहीं है।

 


केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने कहा है, ‘वह इस घटना की निंदा करते हैं लेकिन यह सिर्फ अकेली घटना नहीं है। हमें इसके इतिहास में जाना होगा। यह क्यों हो रहा है? कौन इसे रोकेगा? 1984 का सिख दंगा इतिहास की सबसे बड़ी ‘मॉब लिंचिग’ थी।’ केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘जैसे-जैसे मोदी जी लोकप्रिय होते जायेंगे ऐसी घटनाएं बढ़ेंगी। बिहार में चुनाव के समय ‘अवार्ड वापसी’, यूपी चुनाव में ‘मॉब लिचिंग’ और 2019 में कुछ और होगा। मोदी जी ने योजनाएं दी और उसका असर दिख रहा है। ये उसका एक रिएक्शन है।’