दैनिक भास्कर हिंदी: फेरीवालों को लेकर राज ठाकरे और नाना पाटेकर आमने-सामने

November 6th, 2017

डिजिटल डेस्क, मुंबई। मायानगरी मुंबई में फेरीवालों को जगह मिलेगी या नहीं इस बात को लेकर अब बॉलीवुड एक्टर नाना पाटेकर और मनसे प्रमुख राज ठाकरे अब आमने-सामने आ गए हैं। राज ठाकरे ने साफ कर दिया है कि वे फेरीवालों को सार्वजनिक स्थानों के बाहर जगह देने के विरोध में खड़े हुए हैं। वहीं दूसरी ओर नाना पाटेकर ने इसका विरोध करते हुए फेरीवालों के रोजीरोटी के लिए राज के खिलाफ बयान दिया है।

 

नाना पाटेकर ने एक इवेंट में कहा, इतने सालों से महानगरपालिका प्रशासन फेरीवालों को जगह नहीं दे पाई है। इस सबके लिए महानगरपालिका जिम्मेदार है, न कि फेरीवाले। फेरीवाले तो अपनी रोजीरोटी के लिए काम कर रहे हैं। साफ है कि नाना पाटेकर ने अब फेरीवालों के पक्ष में उनका मुद्दा रखते हुए राज से पंगा शुरु कर दिया है। इस बयान को ज्यादा समय भी नहीं हुआ था कि राज ने पलटवार करते हुए जवाब दिया है।

 

राज ठाकरे ने नाना की मिमिक्री करते हुए इसका जवाब देते हुए कहा कि नाना अपना काम करें, हमें ना सिखाएं कि हमें क्या करना है। साथ ही राज ने नाना की फिल्म 'वेलकम' का उल्लेख किया, जिसमें नाना फेरीवाले का किरदार निभाया था। राज ने कहा, 'मतलब फेरीवालों पर नाना को रहम आ गया।'

 

राज ठाकरे ने कहा है, नाना अच्छे एक्टर हैं, लेकिन उन्हें उस बारे में कुछ नहीं बताना चाहिए, जिसकी उन्हें जानकारी न हो। यदि उन्हें लगता है कि फेरीवालों का ध्यान रखना सरकार का काम है तो उन्होंने अपना फाउंडेशन (NAAM) क्यों शुरू किया? सरकार का काम है कि वह हर व्यक्त‍ि तक पानी पहुंचाए. सरकार से इस काम के लिए क्यों नहीं कहा जाता?

 

गौरतलब है कि महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ने कुछ दिन पहले स्टेशन और आसपास स्टॉल लगाने वाले फेरीवालों के साथ मारपीट और तोड़फोड़ की थी। तब से यह मामला चर्चा में है।