दैनिक भास्कर हिंदी: सिद्धू ने कहा, मोदी भी गए थे पाकिस्तान, इमरान ने सिद्धू को बताया शांतिदूत

August 21st, 2018

हाईलाइट

  • सिद्धू ने कहा, 'पहले भी शांति स्थापित करने के लिए इस तरह की कोशिशें की गई हैं।
  • अटलजी ने लाहौर तक दोस्ती बस सेवा शुरू की थी: सिद्धू
  • सिद्धू ने कहा, प्रधानमंत्री मोदी ने भी नवाज शरीफ को अपने शपथ ग्रहण में बुलाया था।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। नवजोत सिंह सिद्धू ने अपनी पाक यात्रा पर पहली बार सफाई पेश की है। उनके बचाव में पाक पीएम इमरान खान भी उतर आए हैं। कांग्रेस नेता और पंजाब सरकार में मंत्री सिद्धू ने कहा, 'पहले भी शांति स्थापित करने के लिए इस तरह की कोशिशें की गई हैं। अटलजी ने लाहौर तक दोस्ती बस सेवा शुरू की थी। प्रधानमंत्री मोदी ने भी नवाज शरीफ को अपने शपथ ग्रहण में बुलाया था मोदी शादी समारोह में शामिल होने पाकिस्तान भी गए थे। कैप्टन अमरिंदर सहित कांग्रेस नेताओं द्वारा निशाना साधने पर सिद्धू ने कहा कि सभी को अपना विचार रखने की आजादी है। सिद्धू ने कहा कि मुझे 10 बार निमंत्रण मिला था। इसके बाद मैंने भारत की सरकार से जाने की अनुमति मांगी। पाकिस्तान की सरकार ने 2 दिन बाद मुझे वीजा दिया, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने रात में फोन पर मुझे इस बात की जानकारी दी थी। 

 

 

राहुल गांधी को देना चाहिए जवाब: भाजपा
सिद्धू की सफाई के बाद भाजपा ने उन पर निशाना साधा है। बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा, 'दुख की बात है कि सिद्धू ने यह कहकर कि भारतीयों के छोटे दिल हैं, देश को नीचा दिखाने की कोशिश की है। हम इसकी निंदा करते हैं। पात्रा ने कहा कि वे इस पर राहुल गांधी से जवाब चाहते हैं। क्या राहुल समानांतर सरकार चलाने की कोशिस कर रहे हैं। पात्रा ने सवाल किया कि क्या कांग्रेस के लिए हमारे आर्मी चीफ 'सड़क के गुंडे' और पाकिस्तानी आर्मी चीफ 'सोने दे मुंडे' हैं?

 

 

 

विरोध करने वाले शांति में बाधक: इमरान
सिद्धू के बचाव में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान उतर आए हैं। इमरान ने कहा, 'मैं सिद्धू को मेरे शपथ ग्रहण कार्यक्रम में आने के लिए धन्यवाद कहता हूं। वे शांतिदूत बनकर पाकिस्तान आए थे। पाकिस्तान के लोगों के लिए सिद्धू की यात्रा शानदार अनुभव थी। भारत में उन्हें निशाना बनाने वाले लोग, उपमहाद्वीप में अशांति फैलाने का काम कर रहे हैं।

 

 

औरंगजैब के पिता बोले, पाक आर्मी चीफ भी मिलें
इस बीच शहीद औरंगजैब के पिता का भी बयान सामने आया है। मोहम्मद हनीफ ने कहा, 'सिद्धू साबह ने पाक आर्मी चीफ से मुलाकात की। मुझे लगता है, पाक आर्मी चीफ को भी हमसे मिलना चाहिए। अगर वो एक कदम आगे बढ़ाते हैं, तो हम 100 कदम आगे भढ़ाएंगे। मैं प्रधानमंत्री मोदी से अनुरोध करता हूं कि वो इमरान खान से मिलें। दोनों देशों के बीच ऐसे संबंध होने चाहिए कि किसी भी व्यक्ति की मौत न हो। पाकिस्तान हामेर सैनिकों से अच्छा व्यवहार करे।

 

 

 

खबरें और भी हैं...