दैनिक भास्कर हिंदी: नोएडा, गाजियाबाद, दिल्ली सीमा सील, लोगों में अफरा-तफरी, जाम के हालात

April 22nd, 2020

हाईलाइट

  • दिल्ली सीमाओं पर की गई सीलबंदी
  • पुलिस की टीमें प्रवेश करने वालों को रोकती दिखाई दीं

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। गौतमबुद्ध नगर और गाजियाबाद जिला प्रशासन द्वारा दिल्ली सीमाओं पर की गई सीलबंदी सुबह से ही देखने को मिलने लगी। बुधवार 9 बजे के करीब ही इन दोनो जिलों की दिल्ली से सटी सीमाओं पर भीड़ इकट्ठी हो गई। दिल्ली पुलिस अपने इलाके से यूपी में जाने वालों को रोकती हुई नजर आई। वहीं गौतमबुद्ध नगर और गाजियाबाद पुलिस की टीमें अपने इलाके से दिल्ली में और दिल्ली से गाजियाबाद-नोएडा में प्रवेश करने वालों को रोकती दिखाई दीं।

सबसे ज्यादा भीड़ नेशनल हाइवे 9 (24) और दिल्ली (अक्षरधाम रोड) से नोएडा के प्रवेश द्वार पर देखने को मिली। गाजियाबाद और गौतमबुद्ध नगर जिला प्रशासन ने दिल्ली प्रवेश द्वारों को तो प्रवेश के लिए पाबंद किया ही था, इसके अलावा दोनो जिलों ने अपने यहां आपस में भी आने जाने वालों पर कड़ी पाबंदी लगा दी।

गाजियाबाद से नोएडा और नोएडा से गाजियाबाद की सीमा में प्रवेश करने वालों और पुलिस के बीच भी कई जगह सिर फुटव्वल होती देखी-सुनी गई। दोनो ही जिलों की पुलिस न तो अपने जिले की सीमा से किसी को दूसरे जिले की सीमा में प्रवेश की इजाजत दे रही थी। न ही अपने जिले में दूसरे जिले के किसी शख्स या फिर वाहनों को प्रवेश की अनुमति दे रहे थे।

गाजियाबाद से दिल्ली (नेशनल हाइवे 9) पर आने जाने वाले लोग बार्डर पर (गाजीपुर मुर्गा मंडी के पास) टोल के नीचे भीड़ लगाये दिखाई दिये। इसी तरह से अक्षरधाम रोड से नोएडा में (गौतमबुद्ध की मूर्ति वाले प्रवेश द्वार पर) प्रवेश करने वाले और यहां नोएडा से दिल्ली दिल्ली में प्रवेश करने वाले कई कफ्यू पास धारक भी पुलिस से उलझते देखे गये। मूवमेंट पास वाले अपने पास मौजूद पास को यूपी-दिल्ली में आने जाने का वैध और प्रशासन द्वारा जारी अधिकार पत्र बता रहे थे। जबकि दोनो ही राज्यों की पुलिस नये आदेशों का हवाला देकर उन्हें रोकने की कोशिश कर रही थी।

गौतमबुद्ध नगर जिला पुलिस का कहना था कि, नये आदेशों के तहत अब कोई भी सीमा में न प्रवेश करेगा। न ही यूपी की सीमा से दिल्ली की सीमा में प्रवेश करेगा। जबकि आने-जाने वालों की शिकायत थी कि, कर्फ्यू पास हाथ में होने के बाद भी दिल्ली-यूपी पुलिस का यह रवैया अड़ियल और उनके हठधर्मी स्वभाव का प्रतीक है। जो प्रशासन द्वारा जारी मूवमेंट पास वालों को भी बार्डर पर आने जाने वालों को रोक रहे हैं।

गाजियाबाद से दिल्ली और दिल्ली से गाजियाबाद आने जाने वालों को मंगलवार को भी इसी समस्या से जूझना पड़ा था। जबकि बुधवार से गौतमबुद्ध नगर जिला प्रशासन ने भी अपनी दिल्ली से जुड़ी सीमाएं सील कर दीं। जिससे लोगों को खासी परेशानी में सड़क बेबसी के आलम में खड़े देखा गया।

उधर आईएएनएस से बातचीत में गौतमबुद्ध नगर जिला पुलिस प्रवक्ता ने कहा, जिन लोगों के पास कर्फ्यू पास या मूवमेंट पास है, उन्हें दिक्कत नहीं आ रही है। फिर भी अगर कहीं कोई परेशानी है तो वो सीधे पुलिस और जिला प्रशासन से संपर्क साध सकता है।

गाजियाबाद जिला पुलिस प्रवक्ता ने आईएएनएस से कहा, पहले दिन थोड़ी बहुत परेशानी हुई थी। बुधवार को सबको पता लग गया। इसलिए या तो लोग बार्डर पर पहुंचे ही नहीं और जो लोग आये उन्हें प्रशासन का नया आदेश बताकर वापिस कर दिया गया।