दैनिक भास्कर हिंदी: Rahul Shows The Way: राहुल गांधी से बोले रघुराम राजन- गरीबों की मदद जरूरी, सरकार के खर्च होंगे 65 हजार करोड़

April 30th, 2020

हाईलाइट

  • कोरोना संकट के बीच राहुल गांधी की नई मुहिम
  • रघुराम राजन के साथ की कई मुद्दों पर बात

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस और लॉकडाउन के बीच कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने आज (गुरुवार) रिजर्व बैंक के पूर्व गर्वनर रघुराम राजन (Raghuram Rajan) से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बातचीत की। इस दौरान दोनों के बीच कोरोना, लॉकडाउन और देश की अर्थव्यवस्था जैसे तमाम मुद्दों पर चर्चा हुई। इस दौरान रघुराम ने कहा कि गरीबों की मदद करना जरूरी है। जिसके लिए केंद्र सरकार को करीब 65 हजार करोड़ रुपए खर्च करने होंगे। 

जनता को सूचित करना होगा
राहुल गांधी ने रघुराम राजन से पूछा कि कोरोना वायरस से देश की अर्थव्यवस्था पर क्या असर पड़ेगा? इस पर राजन ने जवाब दिया कि इन मुद्दों पर अधिक से अधिक जानकारी होना जरूरी है और जनता को जितना संभव को सूचित करना जरूरी है। हमें अर्थव्यवस्था को खोलने के बारे में सोचना चाहिए। उन्होंने कहा कि संरचनाओं को बनाने के साथ इसे अपेक्षाकृत सुरक्षित बनाने के लिए दोनों आवश्यकता है। आप दूसरे या तीसरे लॉकडाउन में जाए बिना जल्दी से कैसे आइसोलेट हो जाते हैं, क्योंकि वे विनाशकारी होंगे। 

सरकार को गरीबों के लिए 65 हजार करोड़ खर्च करने होंगे
राहुल ने उनसे पूछा कि भारत को अपने विजन की तलाश है और क्या होना चाहिए। इस पर रघुराम ने कहा कि हमें क्वॉलिटी नौकरी की तरह फोकस करना होगा। राहुल ने पूछा कि गरीबों की मदद के लिए कितना पैसा लगेगा। इस पर राजन ने कहा कि सरकार को करीब 65 हजार करोड़ रुपए खर्च करने होंगे। 

कोरोना टेस्टिंग को बढ़ाना होगा
कांग्रेस पूर्व अध्यक्ष ने जब देश में कोरोना टेस्टिंग को लेकर सवाल किया। इस पर राजन ने कहा कि अगर हम अर्थव्यवस्था को खोलना चाहते हैं, तो टेस्टिंग की क्षमता को बढ़ाना होगा। उन्होंने कहा कि हमें मास टेस्टिंग करनी होगी। अमेरिका में हर दिन लाखों टेस्ट हो रहे हैं, लेकिन हम सिर्फ 20-30 हजार के बीच है।