कोरोना से बचाव: फ्रंटलाइन वर्कर्स की तर्ज पर बैंक कर्मचारियों को भी बूस्टर डोज प्राथमिकता पर मिलने की उठी मांग

January 14th, 2022

हाईलाइट

  • फ्रंटलाइन वर्कर्स की तर्ज पर बैंक कर्मचारियों को भी बूस्टर डोज प्राथमिकता पर मिलने की उठी मांग

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। देशभर में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। ऐसे में बैंक कर्मचारियों को भी फ्रंटलाइन वर्कर्स की तरह बूस्टर डोज में प्राथमिकता दी जाने की मांग की जा रही है। बैंक कर्मचारियों की एक संगठन वॉइस ऑफ बैंक के अनुसार, पूरे देश में कोरोना महामारी तीसरी लहर के चलते बड़ी संख्या में बैंक कर्मचारी भी प्रभावित हो रहे हैं। शहर शहर बैंकों की पूरी की पूरी शाखाएं कोरोना संक्रमित हो रही हैं।

वॉइस ऑफ बैंकिंग के फाउंडर अश्विनी राणा ने बताया, हजारों की संख्या में बैंक कर्मचारी अब तक संक्रमित हो चुके हैं। जहाँ एक और प्रदेश सरकारें प्राइवेट और सरकारी कर्मचारियों के लिए वर्क फ्रॉम होम को लागू कर रही हैं, बैंक कर्मचारी बैंकों में जाने को मजबूर हैं। इसलिए सरकार को बैंक कर्मचारियों को भी फ्रंटलाइन वर्कर्स की तरह बूस्टर डोज में प्राथमिकता दी जानी चाहिए।

इंडियन बैंक्स एसोसिएशन द्वारा जारी निदेशरें का राज्य स्तरीय बैंकिंग समितियों द्वारा ठीक तरह से पालन कराया जाये। कई राज्य स्तरीय बैंकिंग समितियों ने अभी भी अपने राज्य में बैंकिंग के समय को सीमित नहीं किया है।

उन्होंने आगे बताया कि, बैंक प्रबंधन द्वारा जारी किये गए निदेशरें का शाखा स्तर पर ठीक तरह से पालन कराया जाए, क्योंकि पूरी की पूरी ब्रांच संक्रमित होने के बाद भी ब्रांच को बंद नहीं किया जाता। वहीं कई बैंकों के प्रबंधन द्वारा कोरोना संक्रमित कर्मचारियों के साथ ठीक तरह से व्यवहार नहीं किया जा रहा है और उनपर बैंक आने का दबाव बनाया जाता है।

स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी गुरुवार के आंकड़े के अनुसार देश में बीते 24 घंटे में 2.47 लाख से अधिक मामले सामने आए हैं वहीं बीते 24 घंटे में 380 लोगों की कोरोना से मौत हुई है। साथ ही वहीं देश में सक्रिय मामले 11 लाख को पार कर गए हैं।

 

आईएएनएस