comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

पंजाब में गिरफ्तार किए गए लश्कर आतंकियों का साथी भी गिरफ्तार

June 13th, 2020 20:31 IST
 पंजाब में गिरफ्तार किए गए लश्कर आतंकियों का साथी भी गिरफ्तार

हाईलाइट

  • पंजाब में गिरफ्तार किए गए लश्कर आतंकियों का साथी भी गिरफ्तार

चंडीगढ़, 13 जून (आईएएनएस)। जम्मू-कश्मीर स्थित लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) के दो सरगनाओं आमिर हुसैन वानी और वसीम हसन वानी की गिरफ्तारी के एक दिन बाद ही पंजाब पुलिस ने उनके साथी को भी गिरफ्तार कर लिया गया है।

पंजाब पुलिस की ओर से कश्मीर घाटी में विस्फोट करने के लिए हथियारों की तस्करी करने की कोशिश करने के आरोप में एलईटी के दो सदस्यों को गिरफ्तार किया गया था। पुलिस ने अब उनके साथी को भी गिरफ्त में ले लिया, जो कश्मीर भागने के फिराक में था।

तीसरे संदिग्ध लश्कर आतंकवादी की पहचान जावेद अहमद भट (29) के रूप में हुई है।

वह शुक्रवार को अमृतसर-जम्मू राजमार्ग पर पठानकोट शहर के धोबरा ब्रिज से अपने ट्रक के साथ पकड़ा गया। जब उसे अपने साथियों की गिरफ्तारी के बारे में पता चला तो वह कश्मीर घाटी भागने की कोशिश कर रहा था।

पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) दिनकर गुप्ता के अनुसार, जावेद भी उसी गांव से है, जहां से लश्कर के दो अन्य सदस्य हैं। वह उनके बचपन का दोस्त है।

तीनों पिछले दो-तीन वर्षों से एक साथ ट्रांसपोर्ट का कारोबार कर रहे थे और दिल्ली, अमृतसर और जालंधर की यात्राएं कर रहे थे।

जावेद से प्रारंभिक पूछताछ में पता चला है कि वह आमिर और वसीम के साथ फल और सब्जियां लाने की आड़ में हथियारों की खेप लेने के लिए कश्मीर से अमृतसर आया था।

वे दो ट्रकों में आए थे और 11 जून को वल्लाह रोड के पास से खेप लेने के बाद आमिर और वसीम ने जावेद को अपने हैंडलर एलईटी के इश्फाक अहमद डार उर्फ बशीर अहमद खान के निर्देश पर हथियार सप्लायर से संपर्क करने के लिए अमृतसर में रुकने के लिए कहा था।

डीजीपी ने कहा कि इन तीनों लोगों के पंजाब और जम्मू-कश्मीर में अन्य लिंक और सहयोगियों की पहचान करने के लिए आगे की जांच जारी है। उन्होंने कहा कि इन गिरफ्तारी से पाकिस्तान आधारित आतंकवादियों द्वारा समर्थित व्यापक आतंकी नेटवर्क का संकेत मिला है।

उन्होंने हाल के खुफिया इनपुटों की पुष्टि की और संकेत दिया कि पाकिस्तान की आईएसआई हथियार की खेप को आगे बढ़ा रही है और सीमा पार से आतंकवादियों को घुसपैठ करा रही है और फिर आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए इन्हें कश्मीर घाटी में ले जा रही है।

कमेंट करें
fLFBa