दैनिक भास्कर हिंदी: मोदी बोले- 26/11 के बाद एयरफोर्स सर्जिकल स्ट्राइक चाहती थी, कांग्रेस ने करने नहीं दिया

March 2nd, 2019

हाईलाइट

  • प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 26/11 मुंबई हमले को लेकर एक बार फिर यूपीए सरकार पर निशाना साधा है।
  • पीएम ने कहा कि उस समय एयरफोर्स सर्जिकल स्ट्राइक करना चाहती थी, लेकिन यूपीए ने उन्हें ऐसा नहीं करने दिया।
  • आज सशस्त्र बलों को पूरी स्वतंत्रता है वो जो करना चाहते हैं कर सकते हैं।

डिजिटल डेस्क, कन्याकुमारी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 26/11 मुंबई हमले को लेकर एक बार फिर यूपीए सरकार पर निशाना साधा है। पीएम ने कहा कि उस समय अखबारों में ऐसी खबरें आती थी कि एयरफोर्स सर्जिकल स्ट्राइक करना चाहती है, लेकिन यूपीए सरकार ने उन्हें ऐसा नहीं करने दिया। उन्होंने कहा, आज हम एक ऐसे युग में हैं जहां अखबारों में खबरें आती है- सशस्त्र बलों को पूरी स्वतंत्रता है वो जो करना चाहते हैं कर सकते हैं। तमिलनाडु के कन्याकुमारी में एक सभा को संबोधित करते हुए पीएम ने ये बात कही है।

पीएम ने अपने संबोधन की शुरुआत पाकिस्तान के चंगुल में फंसे एयरफोर्स के विंग कमांडर अभिनंदन वर्थामन की तारीफ के साथ की। उन्होंने कहा प्रत्येक भारतीय को गर्व है कि विंग कमांडर अभिनंदन तमिलनाडु के हैं। आतंकवाद का जिक्र करते हुए पीएम ने कहा, भारत वर्षों से आतंकवाद के खतरे का सामना कर रहा है, लेकिन अब एक बड़ा अंतर है। भारत अब असहाय नहीं है। 2004 से 2014 तक कई आतंकी हमले हुए। राष्ट्र को अपराधियों को दंडित करने की उम्मीद थी लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ। एक समय था जब ऐसी न्यूज रिपोर्ट पढ़ने को मिलती थी कि वायु सेना 26/11 के बाद सर्जिकल स्ट्राइक करना चाहती थी लेकिन यूपीए सरकार ने ऐसा करने नहीं दिया। लेकिन अब सेना के पास खुली छूट है वो जो करना चाहती है कर सकती है।

उन्होंने कहा, 26/11 हुआ, भारत ने आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई की उम्मीद की लेकिन कुछ नहीं हुआ। उरी हुआ और आपने देखा कि हमारे बहादुर जवानों ने क्या किया?पुलवामा हुआ और आपने देखा कि हमारे बहादुर जवानों ने क्या किया? पीएम ने कहा 'मैं उन सभी को सलाम करता हूं जो राष्ट्र की सेवा कर रहे हैं। उनकी सतर्कता हमारे राष्ट्र को सुरक्षित रखती है।'

पीएम ने कहा, पिछले कुछ दिनों की घटनाओं ने हमारे सशस्त्र बलों की ताकत को फिर से प्रदर्शित किया है। इसने हमारे राष्ट्र को भी करीब ला दिया है। जिस तरह से राष्ट्र ने हमारी सशस्त्र सेनाओं का समर्थन किया है, वह असाधारण है और मैं उसके लिए हर भारतीय को नमन करता हूं।

पीएम ने कहा, अफसोस की बात है कि मोदी से नफरत करने वाले कुछ दलों को भारत से नफरत होने लगी है। दुनिया आतंक के खिलाफ भारत की लड़ाई का समर्थन कर रही है, लेकिन कुछ दलों को आतंक के खिलाफ हमारी लड़ाई पर संदेह है। पीएम ने कहा, 'मैं उनसे कहना चाहता हूं- मोदी आएंगे और जाएंगे, भारत रहेगा। कृपया अपनी खुद की राजनीति को मजबूत करने के लिए भारत को कमजोर करना बंद करें।' 

खबरें और भी हैं...