comScore

NYT में PM मोदी ने 'बापू' पर लिखा लेख, बताया- क्यों है गांधी की जरूरत

NYT में PM मोदी ने 'बापू' पर लिखा लेख, बताया- क्यों है गांधी की जरूरत

हाईलाइट

  • New York Times में पीएम मोदी का लेख
  • गांधी के प्रति व्यक्त अपने विचार
  • लिखा- हम दुनिया के साथ और दुनिया के लिए कुछ करना चाहते हैं

डिजिटल डेस्क नई दिल्ली। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने New York Times में एक लेख लिखा है। पीएम मोदी ने अपने लेख का शीर्षक 'भारत और विश्व को गांधी की जरूरत क्यों है' बनाया। मोदी ने इस लेख में महात्मा गांधी के प्रति अपने विचार व्यक्त करते हुए बताया कि कैसे उनकी सरकार गांधीजी के सपनों को पूरा करने की कोशिश कर रही है।

पीएम मोदी ने अपने लेख की शुरूआत 'मार्टिन लूथर किंग' की भारत यात्रा के साथ की। उन्होंने लिखा कि जब लूथर किंग भारत आए थे तब उन्होंने कहा था कि "मैं बाकी देशों में एक टूरिस्ट बनकर जा सकता हूं, लेकिन भारत में मैं एक तीर्थयात्री के रूप में आता हूं।" मोदी ने बताया कि 'वो महात्मा गांधी ही थे जिनकी प्रेरणा के प्रकाश से भारत को लूथर किंग मिले।' बता दें कि लूथर किंग अमेरिका के महान नेताओं में गिने जाते हैं, जिन्होंने संयुक्त राष्ट्र में नागरिक अधिकारों के आंदोलन का नेतृत्व किया था।

मोदी ने अपने लेख में बताया कि "1925 में, गांधीजी ने यंग इंडिया में लिखा था कि 'बिना राष्ट्रवादी बने किसी का अंतर्राष्ट्रीय बनना नामुमकिन है। अंतर्राष्ट्रीयता तभी मुमकिन है जब राष्ट्रवाद एक यथार्थ बन जाए।" गांधीजी के बारे में मोदी ने लिखा कि 'मजदूरों को अधिकार दिलाने के लिए उन्होंने मजदूर महाजन संघ की स्थापना की। आपको देखकर लगेगा कि ये कोई साधारण संगठन होगा, लेकिन गांधीजी के कई कदमों की वजह से इस संगठन का काफी असर दिखा। गांधीजी चाहते थे कि लोग मजदूरों का भी सम्मान करे इसलिए उन्होंने मजदूरों के नाम के साथ महाजन जोड़ दिया।'

अपने लेख के जरिए पीएम मोदी ने बताया कि 'हम (BJP सरकार) भारत में अपना काम कर रहे हैं। जब भी गरीबी दूर करने की बात आती है तो सबसे पहले उसमें भारत का नाम आता है। देश में हमारी स्वच्छता की कोशिशों ने दुनिया का ध्यान आकर्षित किया है।'

उन्होंने लिखा 'अंतर्राष्ट्रीय सोलर गठबंधन की तरह भारत भी अपनी कोशिशों से नए संसाधनों का उपयोग करने में आगे बढ़ रहा है, जो एक स्थायी भविष्य के लिए सौर ऊर्जा का लाभ उठाने के लिए कई देशों को एक साथ लाया है।' साथ ही इस लेख में उन्होंने बताया कि 'हम दुनिया के साथ और दुनिया के लिए और भी कुछ करना चाहते हैं।'

कमेंट करें
YGkXi