दैनिक भास्कर हिंदी: पीएम मोदी ने यूपी को दी 60,000 करोड़ की सौगात, कहा- इतना तेज विकास पहले कभी नहीं हुआ

July 29th, 2018

हाईलाइट

  • आज दो दिवसीय दौरे पर उत्तरप्रदेश जाएंगे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी।
  • 3800 करोड़ की योजनाओं का करेंगे शिलान्यास।
  • शहरी और ग्रामीण विभाग के कई कार्यक्रमों में करेंगे शिरकत।

डिजिटल डेस्क, लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज (रविवार) लखनऊ में 60 हजार करोड़ की 81 परियोजनाओं का शिलान्यास किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि यूपी में  पिछले कुछ समय में जितनी तेजी से विकास हुआ है, उतना पहले कभी नहीं देखा गया। उन्होंने कहा, 'कुछ लोग इसे Ground Breaking सेरेमनी कह रहे हैं, लेकिन मैं इसे Record Breaking सेरेमनी कहूंगा। इतने कम समय में जिस प्रकार प्रक्रियाओं को तेज़ी से आगे बढ़ाया गया है, पुराने तौर तरीकों को बदला गया है, ऐसा उत्तर प्रदेश में देखने को नहीं मिलता था।'

यह बोले पीएम मोदी :

  • मुझे खुशी है कि योगी जी के नेतृत्व में सरकार ने निवेशकों से संवाद बनाए रखा और Intent को Investment में बदलने के लिए माहौल तैयार किया। Online MoU ट्रैकर हो या क्लीयरेंस के लिए निवेश मित्र जैसा डिजिटल प्लेटफॉर्म, ये यूपी में बिजनेस के लिए बने अनुकूल वातावरण को दर्शाता है।
  • मैंने यूपी की 22 करोड़ जनता को वचन दिया था कि उनके प्यार को ब्याज़ समेत लौटाउंगा। यहां जो परियोजनाएं शुरु हो रही हैं वो उसी वचनबद्धता का हिस्सा हैं।
  • ये प्रोजेक्ट्स उत्तर प्रदेश में आर्थिक और औद्योगिक असंतुलन को दूर करने में भी सहायक होंगे। ये प्रोजेक्ट्स Digital India और Make in India को नया आयाम देने की दिशा में बहुत बड़े कदम सिद्ध होने वाले हैं।
  • उत्तर प्रदेश में  इंटरनेट सर्विस पहुंचाने के लिए फाईबर बिछाना हो या फिर IT सेंटर स्थापित करना डिजिटल इंफ्रास्ट्रक्चर यूपी के विकास को नई गति, नई दिशा देने वाला है।
  • हम एक ऐसी व्यवस्था खड़ी करना चाहते हैं जहां किसी प्रकार के भेदभाव की गुंजाइश ना हो, प्रक्रियाओं में गति भी दिखे और संवेदनशीलता भी, ना अपना..ना पराया..ना छोटा..ना बड़ा..सबके साथ समान व्यवहार। यानि कुल मिलाकर सबका साथ, सबका विकास।
  • आज देश दुनिया के लिए Mobile Manufacturing का हब बनता जा रहा है। इस Manufacturing Revolution की अगुवाई उत्तर प्रदेश कर रहा है। 
  • पी में 50 से अधिक मोबाइल फोन बनाने वाली फैक्ट्रियां काम कर रही हैं। दुनिया की सबसे बड़ी Manufacturing Unit की भी शुरुआत यहां हो चुकी है। सरकार Holistic vision, Inclusive Action की अप्रोच पर काम कर रही है।
  • यहां मौजूद  आप सभी को और तमाम निवेशकों को भरोसा दिलाना चाहता हूं कि अभी तो ये शुरुआत है। आप राष्ट्र निर्माण की एक महत्वपूर्ण इकाई हैं और आपके संकल्प, देश के करोड़ों नौजवानों को सपनों से भी जुड़े हुए हैं।
  • बिजली के क्षेत्र में जो भी Reforms किए गए हैं, उनसे देश और देश के सामान्य जन के हज़ारों करोड़ रुपयों की बचत हुई है। 
  • उदय योजना ने डिस्ट्रिब्यूशन कंपनियों को नई लाइफलाइन दी है। उजाला के LED बल्ब लगाए गए उससे 3 वर्षों के दौरान बिजली के बिल में करीब 50,000 करोड़ की बचत हुई है।

 

 

पीएम मोदी ने लखनऊ में ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी में 60 हजार करोड़ रुपये की परियोजनाओं का शिलान्यास किया। इस कार्यक्रम में पिछली फरवरी में राजधानी में आयोजित हुई ‘यूपी इन्वेस्टर्स समिट’ के दौरान प्रदेश में निवेश के लिये किये गये समझौतों से जुड़ी विभिन्न परियोजनाओं का शिलान्यास किया गया। यह कार्यक्रम भी इन्वेस्टर्स समिट की ही तर्ज पर आयोजित किया गया था, इसमें भी रिलायंस, महिन्द्रा और अडाणी समेत बड़े उद्योग समूहों के प्रमुखों समेत कईं उद्योगपतियों ने शिरकत की।

इन्वेस्टर्स समिट में कुल चार लाख 68 हजार करोड़ रुपये के निवेश के समझौते (एमओयू) किये गये थे। ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी इस समिट की सफलता की इबारत को दुनिया के सामने लाने के लिए आयोजित की गई थी। ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी में पेटीएम, गेल, एचपीसीएल, टीसीएस, बी.एल. एग्रो, कनोडिया ग्रुप, एसीसी सीमेंट, मेट्रो कैश एण्ड कैरी, पीटीसी इण्डस्ट्रीज, गोल्डी मसाले, डीसीएम श्रीराम समेत विभिन्न समूहों के प्रतिनिधियों ने भी हिस्सा लिया। इन कम्पनियों ने प्रदेश में निवेश के लिये दिलचस्पी दिखायी थी। मोदी का इस महीने उत्तर प्रदेश का यह पांचवां दौरा है।

इससे पहले शनिवार को पीएम नरेंद्र मोदी शनिवार शाम राजधानी लखनऊ पहुंचे थे। यहां उन्होंने 'ट्रांसफॉर्मिंग अरबन लैंडस्केप' नामक कार्यक्रम में शिरकत की थी। पीएम मोदी ने इस कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव पर तंज कसा था। लखनऊ में कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा था, 'लोग आजकल मुझ पर ये आरोप लगा रहे हैं कि मैं चौकीदार नहीं भागीदार हूं। मगर मैं इस इल्जाम को इनाम मानता हूं, क्योंकि मैं गरीबों को घर दिलाने की कोशिश का भागीदार हूं। मैं गरीबों के दुख-दर्द का भागीदार हूं। मैं गरीबों के दुख कम करने का मकसद लेकर काम कर रहा हूं। मैं इसका भागीदार हूं। इसका मुझे गर्व है।'