दैनिक भास्कर हिंदी: Resignation: पीएम मोदी के प्रिंसिपल एडवाइजर पीके सिन्हा का इस्तीफा, 2019 में हुए थे अपॉइंट

March 16th, 2021

हाईलाइट

  • PM Modi के मुख्य सलाहकार पी.के. सिन्हा ने दिया इस्तीफा
  • सिन्हा ने अपने करियर की शुरुआत इलाहाबाद में असिस्टेंट कलेक्टर के रूप में की थी
  • उन्हें सितंबर 2019 में प्रधानमंत्री के प्रमुख सलाहकार के रूप में नियुक्त किया गया था

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रमुख सलाहकार पीके सिन्हा ने इस्तीफा दे दिया है। सिन्हा 1977 बैच के सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी है। नृपेंद्र मिश्रा के इस्तीफे के बाद उन्हें सितंबर 2019 में प्रधानमंत्री के प्रमुख सलाहकार के रूप में नियुक्त किया गया था। सिन्हा ने इस्तीफे के पीछे निजी कारणों का हवाला दिया है। हालांकि इस्तीफे पर सरकार की ओर से अभी कोई जानकारी नहीं दी गई है। सरकार की ऑफिशियल वेबसाइट पर अब भी उनका ही नाम है।

जानिए पीके सिन्हा के बारे में:

  • पी के सिन्हा ने अपने करियर की शुरुआत इलाहाबाद में असिस्टेंट कलेक्टर के रूप में की थी। 
  • पीके सिन्हा ने भारत सरकार और उत्तर प्रदेश सरकार दोनों में कई प्रमुख पदों पर कार्य किया।
  • जैसे प्रधान सचिव (सिंचाई), वाराणसी मंडल के आयुक्त, उत्तर प्रदेश के निवेश आयुक्त।
  • ग्रेटर नोएडा के अतिरिक्त सीईओ, उत्तर के अतिरिक्त निवासी आयुक्त उत्तर प्रदेश।
  • आगरा और जौनपुर के जिलों के जिलाधिकारी, उत्तरांचल विकास प्राधिकरण के सचिव।
  • उत्तर प्रदेश सरकार में मेरठ विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष के रूप में उन्होंने सेवा दी है।
  • पीके सिन्हा भारत के कैबिनेट सचिव, केंद्रीय ऊर्जा सचिव, संघ के रूप में शिपिंग सचिव।
  • पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय में विशेष सचिव और वित्तीय सलाहकार।
  • भारत सरकार में युवा मामले और खेल मंत्रालय में संयुक्त सचिव रहे हैं।
  • सिन्हा को मंत्रिमंडल की नियुक्ति समिति (एसीसी) द्वारा 29 मई 2015 को भारत का कैबिनेट सचिव नियुक्त किया गया था।

खबरें और भी हैं...