comScore

माँ की अपील के बाद पुलिस ऑफिसर को आतंकियों ने धमकी देकर छोड़ा

July 29th, 2018 16:57 IST

हाईलाइट

  • जम्मू-कश्मीर: आतंकियों ने त्राल में अगवा स्पेशल पुलिस ऑफिसर को छोड़ दिया।
  • आतंकियों ने शुक्रवार रात मुदस्सिर अहमद लोन को उनके घर से अगवा किया था।
  • मुदस्सिर की मां ने आतंकियों से की थी अपील जिसके बाद उन्हें धमकी देकर छोड़ दिया।

डिजिटल डेस्क, श्रीनगर। जम्मू कश्मीर के त्राल में अगवा स्पेशल पुलिस ऑफिसर मुदस्सिर अहमद लोन को आतंकियों ने छोड़ दिया है। मुदस्सिर अहमद लोन सुरक्षित अपने घर वालों के पास पहुंच गए हैं। जानकारी के मुताबिक पुलिस ऑफिसर की मां ने आतंकियों से अपील करते हुए कहा था कि मुदस्सिर 3 बहनों का अकेला भाई है, और हमारा एकमात्र सहारा है उसे छोड़ दीजिए। अगवा पुलिस ऑफिसर मुदस्सिर अहमद लोन के परिवार का रो-रोकर बुरा हाल था। आतंकियों ने शुक्रवार रात को मुदस्सिर अहमद लोन को उनके घर से अगवा किया था। मुदस्सिर अहमद लोन को छोड़ने से पहले आंतिकियों ने उनका एक वीडियो भी बनाया। इस वीडियो में वह कह रहे हैं कि एसपीओ को आतंकियों की मौजूदगी की जानकारी पुलिसकर्मियों को देने का जिम्‍मा दिया गया है। आतंकियों ने एसपीओ को धमकी दी है कि आने वाले शुक्रवार तक नौकरी छोड़ दें नहीं तो उन्‍हें मार दिया जाएगा।गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले के त्राल से स्पेशल पुलिस ऑफिसर मुदासिर अहमद का अपहरण की किया था। त्राल को हिज्बुल मुजाहिद्दीन का गढ़ माना जाता रहा है और यह पहले कई बार आतंकियों के खिलाफ सेना और पुलिस कई बड़े अभियान चला चुकी है। 



Image result for Police officers Jammu & Kashmir

हाल ही में जम्मू-कश्मीर में एक और जवान को अगवा करने के बाद आतंकियों ने हत्या कर दी थी। छुट्टी पर चल रहे जम्मू-कश्मीर पुलिस के कॉन्स्टेबल सलीम शाह का दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले में मुतालहामा इलाके स्थित उनके घर से अपहरण कर लिया गया था। इसके बाद 21 जुलाई को कुलगाम में उनका गोलियों से छलनी शव बरामद हुआ था। इससे पहले 6 जुलाई को आतंकियों ने शोपियां के कचडूरा इलाके के निवासी जम्मू-कश्मीर पुलिस के कॉन्स्टेबल जावेद हमीद डार को अगवा कर हत्या कर दी थी। उनका शव कुलगाम के परिवान में सुबह स्थानीय लोगों को मिला था। पूर्व में ही, एक अन्य घटना में आतंकियों द्वारा सेना के जवान औरंगजेब का अपहरण करने के बाद बेरहमी से उनकी हत्या कर दी गई थी। सेना की 44 राष्ट्रीय राइफल्स रेजिमेंट के जवान औरंगजेब का शव पुलवामा के गुस्सू गांव में बरामद किया गया था। 

कमेंट करें
Sjyog