comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

UP के गाजीपुर में अवैध शेल्‍टर होम पर पुलिस की छापेमारी, 3 लोग गिरफ्तार

August 11th, 2018 15:35 IST

हाईलाइट

  • यूपी के गाजीपुर में अवैध शेल्टर होम पर पुलिस की छापेमार कार्रवाई।
  • 3 लोगों को गिरफ्तार किया।
  • सीएम योगी के सख्त निर्देश के बाद शेल्टर होम की जांच कर रही है पुलिस।

डिजिटल डेस्क, लखनऊ। देवरिया के बालिका गृह में बच्चियों और युवतियों के यौन शोषण की घटना सामने आने के बाद शासन एक्शन में आ चुका है। सीएम योगी आदित्‍यनाथ के सख्त निर्देश के बाद प्रदेशभर में सभी बालिका गृहों की जांच की जा रही है। गाजीपुर में पुलिस ने एक शेल्‍टर होम में शुक्रवार देर शाम को छापेमारी की। इसमें तीन संदिग्ध लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।


पुलिस के मुताबिक शेल्‍टर होम अवैध रूप से चल रहा था। पुलिस ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि जिस शेल्‍टर होम में शुक्रवार को छापेमारी की गई, उसमें सिर्फ एक महिला और एक नाबालिग रह रही थी। फिलहाल पुलिस दोनों से पूछताछ करेगी। 


यूपी के देवरिया में एक बालिका गृह में लड़कियों के कथित शोषण के आरोपों बाद मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने गंभीरता दिखाई। उन्‍होंने तत्‍काल प्रभाव से वहां के जिलाधिकारी सुजीत कुमार को सस्‍पेंड कर दिया था।मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने सभी जिलों के डीएम को सभी शेल्टर्स होम का निरीक्षण कर 12 घंटे के अंदर रिपोर्ट देने को कहा था।


मुख्‍यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों को अपने संबंधित जिलों में स्थित बाल गृह तथा महिला संरक्षण गृह के व्यापक निरीक्षण करने के निर्देश दिए हैं। मुख्‍यमंत्री ने कहा कि यह भी सुनिश्चित किया जाए कि यहां पर रह रहे बच्चों और महिलाओं को किसी भी प्रकार की परेशानी न हो।


देवरिया के एक बालिका गृह में लड़कियों के साथ यौन शोषण का मामला सामने आने के बाद यूपी सरकार एक्शन मोड में है। सरकार ने इस पूरे मामले की जांच अब CBI को सौंप दी है। सरकार ने इसके साथ ही ADG क्राइम के नेतृत्व में एक SIT भी गठित की है। यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने खुद यह बात मीडिया को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बताई। सीएम योगी ने कहा, 'हम देवरिया शेल्टर होम केस CBI को ट्रांसफर कर रहे हैं। इसके साथ ही हमने ADG क्राइम के नेतृत्व में SIT भी गठित की है।'


सीएम योगी ने कहा, 'CBI ने 2015-16 में कहा था कि इस शेल्टर होम में वित्तीय अनियमितताएं हैं। 2017 में जब हमारी सरकार आई तो हमने इस शेल्टर होम को बंद करने का आदेश दे दिया। जिला प्रशासन ने समय पर एक्शन नहीं लिया। इसीलिए जिला अधिकारी का ट्रांसफर कर दिया गया है। हमने यह भी फैसला लिया है कि इस मामले में हम उनके खिलाफ चार्जशीट भी फाइल करेंगे।'


गौरतलब है कि बिहार के मुजफ्फरपुर की तरह ही देवरिया के एक बालिका गृह में लड़कियों के साथ यौन शोषण का मामला सामने आया है। एक बच्ची की शिकायत से यह पूरा मामला सामने आया है। फिलहाल बालिका गृह से सभी लड़कियों को निकालकर सुरक्षित जगह पहुंचाया गया है, वहीं संस्था को सील कर दिया गया है।


मामले सामने आने के बाद योगी सरकार ने अपर मुख्य सचिव महिला कल्याण रेणुका कुमार और एडीजी अंजू गुप्ता के नेतृत्व में जांच कमेटी देवरिया भेजी थी, जिसने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि विंध्यवासिनी बालिका गृह 2009 से संचालित था। संस्थान में सीबीआई के द्वारा मुकदमा भी चलाया जा रहा है। रिपोर्ट में डीएम और बाल कल्याण समिति की लापरवाही भी सामने आई है। 
 

कमेंट करें
dytWM
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।