दैनिक भास्कर हिंदी: भोपाल हॉस्टल रेपकांड: साइन लैंगवेज एक्सपर्ट की मदद से दर्ज हुए पीड़िताओं के बयान

August 12th, 2018

हाईलाइट

  • भोपाल के अवधपुरी हॉस्टल रेप कांड की चारों पीड़ित लड़कियों को रविवार को भोपाल लाया गया।
  • SIT की टीम ने आरोपी अश्विनी शर्मा से इनका आमना-सामना करवाया और बयान दर्ज किेए।
  • पुलिस ने साइन लेंग्वेज एक्सपर्ट की मदद से लड़कियों की आप बीती जानी।

डिजिटल डेस्क, भोपाल। भोपाल के अवधपुरी हॉस्टल रेप कांड की चारों पीड़ित लड़कियों को रविवार को भोपाल लाया गया। SIT की टीम ने आरोपी अश्विनी शर्मा से इनका आमना-सामना करवाया और बयान दर्ज किए। पुलिस ने साइन लैंग्वेज एक्सपर्ट की मदद से लड़कियों की आपबीती जानी। पूछताछ के बाद अब इन लड़कियों को वापस उनके घर भेजा जाएगा। बता दें कि आरोपी ने हॉस्टल में डरा धमकाकर और ब्लैकमेल कर मूकबधिर 2 लड़कियों के साथ रेप किया था और दो के साथ छेड़छाड़ की थी।

इधर आरोपी अश्विनी शर्मा से पूछताछ के आधार पर पुलिस ने हॉस्टल से एटीएम कार्ड, दस्तावेज, हाजरी रजिस्टर, पीड़िता से संबंधित दस्तावेज, और अन्य सामग्री जब्त की है। सामाजिक न्याय विभाग की अधीक्षिका प्रभा सोमवंशी से भी पुलिस ने पूछताछ की है और उनके बयान दर्ज किए हैं। पीड़िता को घटना स्थल पर ले जाकर पुलिस ने कई साक्ष्य जमा किए हैं। इसके साथ ही एफएसएल टीम के चिकित्सकों ने  घटना स्थल का निरीक्षण किया। आरोपी अभी पुलिस रिमांड पर है और उससे अभी भी पूछताछ की जा रही है।
 

 

 

गौरतलब है कि इस छात्रावास के निदेशक की करतूत उस समय सामने आई थी जब एक मूक-बधिर छात्रा ने पुलिस में शिकायत की थी। इसके बाद तीन दिन के अंदर तीन और युवतियों ने आरोपी के खिलाफ शिकायत की थी। आरोपी अश्विनी शर्मा को बुधवार की रात को गिरफ्तार किया गया और उसके खिलाफ रेप, मारपीट, गलत तरीके से कैद करना और दलित अत्याचार की धाराओं की तहत मुकदमा दर्ज किया गया। अब तक इस मामले में 4 लड़कियां शिकायत दर्ज करा चुकी हैं।

धार की रहने वाली 23 वर्षीय छात्रा ने बताया कि जब वह हॉस्टल में थी, तब आरोपी अश्विनी ने अपने तीन साथियों की मौजूदगी में उसके साथ रेप किया था। छात्रा ने आरोप लगाया है कि कई बार आरोपी उसे और अन्य लड़कियों को मोबाइल पर अश्लील फिल्म दिखाकर रेप करता था। युवती की शिकायत पर इंदौर की हीरानगर थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर डायरी भोपाल ट्रांसफर कर दी है। बता दें कि भोपाल के अवधपुरी में जिस हॉस्टल में ये घटना सामने आई है, वो सरकारी अनुदान पर चलता था।

क्रिस्टल आइडल सोसाइटी के रहवासियों ने बताया कि आरोपी अश्विनी शर्मा कभी-कभी कार से कॉलोनी में आता था। उसके साथ कुछ लोग भी होते थे। अश्विनी किसी से भी संपर्क नहीं रखता था। अश्विनी की पत्नी 9 साल के बेटे के साथ भोपाल में ही रहती है, लेकिन उन्होंने अभी तक अश्विनी या पुलिस से संपर्क करने की कोशिश नहीं की है। दोनों करीब एक साल से अलग रह रहे हैं।