comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

Uttar Pradesh: कांग्रेस की 1000 बसों का 'बवाल', प्रियंका गांधी के सचिव पर एफआईआर दर्ज

May 19th, 2020 21:33 IST
Uttar Pradesh: कांग्रेस की 1000 बसों का 'बवाल', प्रियंका गांधी के सचिव पर एफआईआर दर्ज

हाईलाइट

  • कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर साधा निशाना
  • आगरा में राजस्थान सीमा पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं-पुलिस में नोकझोंक

डिजिटल डेस्क, लखनऊ। उत्तर प्रदेश में बसों और प्रवासी मजदूरों को लेकर मंगलवार को दिनभर चली राजनीति का अंत शाम को यूपी कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू (Ajay Kumar Lallu) की गिरफ्तारी के साथ हुआ। अजय उत्तरप्रदेश में कांग्रेस की बसों की एंट्री को लेकर आगरा की बॉर्डर पर बैठे थे। इसी दौरान पुलिस उन्हें टांगकर ले गई। पुलिस ने यहां से सभी प्रदर्शनकारियों को हटा दिया है। वहीं प्रियंका गांधी के निजी सचिव के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई है। उन पर बसों की गलत जानकारी देने का आरोप लगाया गया है।

कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू की गिरफ्तारी के बाद कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि चाहे बसों पर भाजपा का बेनर लगा ​दीजिए, लेकिन बसों को मजदूरों के लिए जाने दें। प्रियंका ने ट्वीट कर कहा कि उप्र सरकार ने हद कर दी है। जब राजनीतिक परहेजों को परे करते हुए त्रस्त और असहाय प्रवासी भाई बहनों को मदद करने का मौका मिला तो दुनिया भर की बाधाएं सामने रख दिए। उन्होंने कहा कि योगी जी इन बसों  पर आप चाहें तो भाजपा का बैनर लगा दीजिए, अपने पोस्टर बेशक लगा दीजिए लेकिन हमारे सेवा भाव को मत ठुकराइए क्योंकि इस राजनीतिक खिलवाड़ में 3 दिन व्यर्थ हो चुके हैं। और इन्ही तीन दिनों में हमारे देशवासी सड़कों पर चलते हुए दम तोड़ रहे हैं। 

पुलिस ने बल पूर्वक प्रदर्शनकारियों को हटाया
बता दें कि कांग्रेस कार्यकर्ता आगरा में राजस्थान की सीमा पर धरने पर बैठ गए। उन्होंने प्रदेश की योगी सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। इस दौरान पुलिस और कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के बीच जमकर नोकझोंक हुई। पुलिस ने हाइवे पर ट्रकों और अपने वाहनों को खड़ा कर रास्ता रोक दिया। कांग्रेस कार्यकर्ता यूपी सीमा में बसों की एंट्री की इजाजत मांग रहे थे। वहीं, पुलिस ने उनसे बसों के परमिट और कागजात मांगे। हालांकि, पुलिस ने बाद में कांग्रेस कार्यकर्ताओं को धरने पर से हटा दिया। 

यूपी पुलिस और अजय कुमार लल्लू के बीच बहस
इससे पहले इमरान प्रतापगढ़ी (Imran Pratapgarhi) के ट्विटर अकाउंट से अपलोड किए गए वीडियो में यूपी कांग्रेस के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू यह कहते हुए नजर आ रहे हैं।कि हमारी 1000 बसें तैयार हैं। हमें जाने दीजिए ताकि प्रवासी मजदूरों को उनके घरों तक पहुंचाया जा सके। बाकी आपकी सरकार भाषण दे रही है।

ये है पूरा मामला
प्रियंका गांधी ने 16 मई को ट्वीट कर कहा था कि हजारों श्रमिक, प्रवासी भाई-बहन बिना खाए भूखे-प्यासे पैदल दुनियाभर की मुसीबतों को उठाते हुए अपने घरों की ओर चल रहे हैं। यूपी के हर बॉर्डर पर बहुत मजदूर मौजूद हैं। ऐसे में प्रिंयका ने प्रवासी श्रमिकों के लिए 1000 बसें भेजने के लिए प्रदेश सरकार से अनुमति मांगी थी। पहले योगी सरकार ने इस मांग को ठुकरा दिया था, लेकिन बाद में स्वीकार कर लिया। इसके बाद उत्तर प्रदेश सरकार के प्रशासन ने प्रियंका के कार्यालय से 1000 बसों और चालकों के विवरण की मांग की थी।

कमेंट करें
kcRQy
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।