दैनिक भास्कर हिंदी: पीएम मोदी ने की ‘स्वच्छता ही सेवा अभियान’ की शुरुआत, अंबेडकर स्कूल में लगाई झाडू

September 15th, 2018

हाईलाइट

  • स्वच्छत भारत मिशन को आगे बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज स्वच्छता ही सेवा अभियान की शुरुआत करेंगे।
  • स्वच्छ भारत मिशन के 2 अक्टूबर को चार साल पूरे होने जा रहे है इससे पहले इसकी शुरुआत की जा रही है।
  • इस दौरान पीएम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए देश के कई हिस्सों में लोगों से स्वच्छता पर बात करेंगे।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। स्वच्छ भारत मिशन को आगे बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज 'स्वच्छता ही सेवा अभियान' की शुरुआत की। पीएम मोदी ने स्वच्छता ही सेवा अभियान शुभारंभ के दौरान अलग-अलग क्षेत्रों के दिग्गजों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान बातचीत की। पीएम मोदी ने इस अभियान के तहत दिल्ली के अंबेडकर हायर सेकेन्ड्री स्कूल में लगाई झाडू। इससे पहले पीएम मोदी ने साल 2014 में वाराणसी में झाडू लगाई थी।

अमिताभ बच्चन- सदी के महानायक अमिताभ बच्चन ने पीएम मोदी से बात करते हुए स्वच्छता भारत मिशन की तारीफ की। उन्होंने कहा कि लोगों में काफी जागरुकता आई है और वेस्ट मेनेजमेंट के लिए भी कई सार्थक प्रयास किए गए हैं।

रतन टाटा- देश के जाने माने उद्योगपति रतन टाटा से बातचीत के दौरान पीएम मोदी ने रतन टाटा और उनकी टीम को लेटेस्ट टेक्नॉलाजी की मदद से स्वच्छता अभियान में योगदान देने के लिए धन्यवाद दिया। 

मीडिया- मीडिया कर्मियों से स्वच्छता अभियान पर बात करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि मीडिया ने स्वच्छ भारत अभियान में अहम योगदान दिया है। पीएम मोदी ने स्वच्छता के लिए लोगों को जागरुक करने में मीडिया की भूमिका को महत्वपूर्ण बताया।

सदगुरु (ईशा सेन्टर)- सदगुरु ने स्वच्छता मिशन की तारीफ करते हुए कहा कि सरकार ने साफ-सफाई व्यवस्था को बनाए रखने के लिए कई कदम उठाए हैं। सदगुरु ने कहा कि हमने लोगों को जागरुक कर स्वच्छता अभियान से जोड़ा है। सदगुरु ने कहा कि हमने प्लास्टिक बैग्स की जगह कपड़े के थैलों का इस्तेमाल करने को लेकर भी लोगों को जागरुक किया है।

सीएम योगी- उत्तर प्रदेश के सीएम योगी अदित्यनाथ ने कहा कि कुछ सालों पहले यूपी के लिए स्वच्छता एक सपने की तरह थी पर मोदी सरकार द्वारा स्वच्छता अभियान चलाने के बाद यूपी की तस्वीर बदल गई है।

स्वच्छ भारत मिशन के 2 अक्टूबर को चार साल पूरे होने जा रहे हैं, इससे पहले इसकी शुरुआत की गई है। वहीं पीएम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए देश के कई हिस्सों में लोगों से भी स्वच्छता पर सीधे संवाद कर रहे हैं। ये वे लोग होंगे जिन्हें इस मिशन से फायदा हुआ है। जिनके घरों में केन्द्र सरकार की मदद से शौचलय बने हैं। पीएम मोदी ने ख़ुद ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी है।

इस दौरान यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ भी पीएम से जुड़े रहेंगे। वे इकलौते मुख्यमंत्री हैं, जिन्हें पीएम कार्यालय ने इस कार्यक्रम के लिए चुना है। इसके लिए सीएम योगी फ़तेहपुर जाएंगे। वे वहीं से वीडियो कॉन्फ्रेंस के ज़रिए पीएम नरेन्द्र मोदी से बातचीत करेंगे और यूपी में स्वच्छता मिशन में अब तक हुए काम का ब्यौरा देंगे। फ़तेहपुर यूपी के आठ पिछड़े जिलों में से एक है, जिसे मोदी सरकार ने एसपिरेशनल डिस्ट्रिक्ट का नाम दिया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 'स्वच्छता ही सेवा अभियान' में शामिल होने और स्वच्छ भारत मिशन को मजबूत करने के लिए अलग-अलग क्षेत्रों के 2000 नागरिकों को व्यक्तिगत तौर पर पत्र लिखे हैं। इस पत्र में, प्रधानमंत्री मोदी ने पूर्व जज, सेवानिवृत्त सरकारी कर्मचारियों, गैलेन्ट्री अवॉर्ड विनर्स, कॉमनवलेथ गेम्स के और एशियाई खेलों के पदक विजेताओं, स्पिरिचुअल लीडर, फिल्मी जगत के लोग, नामी पत्रकार, खिलाड़ियों, लेखकों, अन्य लोगों से जन आंदोलन का हिस्सा बनने का आग्रह किया है। इस लेटर में पीएम ने कहा है कि आप दूसरे लोगों को भी इस मिशन से जुड़ने के लिए प्रोत्साहित करे।

देश के सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में आंदोलन का समर्थन करने के लिए, प्रधान मंत्री ने गवर्नर, लेफ्टिनेंट गवर्नर, मुख्य मंत्री और सभी राज्यों के उपमुख्यमंत्री को पत्र भी लिखे हैं। प्रधान मंत्री मोदी ने स्वच्छ भारत मिशन की प्रमुख विशेषताओं पर भी प्रकाश डाला है। उन्होंने स्वच्छ भारत मिशन को एक जन आंदोलन के रूप में भी वर्णित किया है जिसने पूरे भारत में एक स्वच्छता क्रांति की शुरुआत की है।

स्वच्छ भारत मिशन की प्रोग्रेस को साझा करते हुए, पत्र में कहा गया है कि पिछले चार सालों में देश में 8.5 करोड़ से अधिक शौचालयों का निर्माण किया गया है। इस लेटर में यह भी बताया गया है कि 2014 में जहां 40 प्रतिशत से भी कम लोगों के पास शौचालय की सुविधा थी वहीं अब 90 प्रतिशत लोगों तक शौचालय को पहुंचाया गया है।