comScore

इसी ऑफिस से राहुल ने शुरू किया था महासचिव का सफर, अब प्रियंका को हुआ अलॉट

February 06th, 2019 10:11 IST
इसी ऑफिस से राहुल ने शुरू किया था महासचिव का सफर, अब प्रियंका को हुआ अलॉट

हाईलाइट

  • प्रियंका गांधी वाड्रा को 24 अकबर रोड स्थित कांग्रेस मुख्यालय में एक ऑफिस अलॉट किया गया है।
  • प्रियंका की नेम प्लेट भी कमरे के बाहर लगाई गई है, जो उनके भाई और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के कार्यालय से सटी हुई है।
  • प्रियंका को जो ऑफिस अलॉट किया गया है उस पर पहले राहुल का कब्जा था जब वह पार्टी महासचिव थे।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। पार्टी की महासचिव व पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा को 24 अकबर रोड स्थित कांग्रेस मुख्यालय में एक ऑफिस अलॉट किया गया है। प्रियंका की नेम प्लेट भी कमरे के बाहर लगाई गई है, जो उनके भाई और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के कार्यालय से सटी हुई है। प्रियंका को जो ऑफिस अलॉट किया गया है उस पर पहले राहुल का कब्जा था जब वह पार्टी महासचिव थे। इससे पहले कांग्रेस के पूर्व महासचिव जनार्दन द्विवेदी और सुशील कुमार शिंदे को भी ये ऑफिस अलॉट हुआ था।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की पार्टी महासचिवों के साथ बैठक से दो दिन पहले ये नेमप्लेट लगाई गई है। इस बैठक में प्रियंका भी शामिल होंगी। लोकसभा चुनाव की तैयारी का जायजा लेने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पार्टी महासचिवों और राज्य प्रभारियों की ये बैठक बुलाई है। राहुल गांधी ने पिछले महीने अपनी बहन के सक्रिय राजनीति में आने की घोषणा की थी। उन्होंने पश्चिम और पूर्वी उत्तर प्रदेश के लिए दो प्रभारी महासचिव नियुक्त किए हैं। इसमें पूर्वी उत्तर प्रदेश का प्रभार प्रियंका गांधी और पश्चिम उत्तर प्रदेश का प्रभार कांग्रेस सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया को दिया गया है।

47 साल की प्रियंका गांधी सोमवार को ही अपनी विदेश यात्रा से लौटी है। यात्रा से लौटने के बाद उन्होंने राहुल गांधी से मुलाकात की थी। उन्हें पूर्वी यूपी में पार्टी के अभियान का नेतृत्व करने का काम सौंपा गया है, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का वाराणसी निर्वाचन क्षेत्र और राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का गढ़ गोरखपुर शामिल है। कांग्रेस अध्यक्ष ने मंगलवार को कहा था कि प्रियंका गांधी वाड्रा की यूपी से परे भी भूमिका होगी। उन्होंने कहा था प्रियंका पार्टी की महासचिव है और महासचिव की परिभाषा के अनुसार उनकी एक राष्ट्रीय भूमिका है।

उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनाव के लिए समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के महागठबंधन से कांग्रेस कार्यकर्ता थोड़े निराश थे। दोनों पार्टियों ने पिछले महीने कांग्रेस को छोड़कर लोकसभा चुनाव के लिए अपने गठबंधन की घोषणा की थी, जिसमें भाजपा के खिलाफ विपक्ष को एकजुट करने की बात की गई थी। ऐसे में अब प्रियंका गांधी के राजनीति में आने से कांग्रेस कांग्रेस कार्यकर्ता उत्साहित दिख रहे हैं और उनकी उम्मीदें बढ़ गई है। 

कमेंट करें
rx7hb