comScore

स्वामी अग्निवेश मामले पर राहुल का सवाल, पूछा - कौन हूं मैं

July 18th, 2018 16:34 IST
स्वामी अग्निवेश मामले पर राहुल का सवाल, पूछा - कौन हूं मैं

हाईलाइट

  • स्वामी अग्निवेश पर हुए हमले पर राहुल ने किया ट्वीट।
  • पहेली पूछकर साधा भाजपा पर निशाना।
  • झारखंड में कल हुआ था स्वामी अग्निवेश पर हमला।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। बीती 17 जुलाई को सामाजिक कार्यकर्ता स्वामी अग्निवेश पर झारखंड में हुए हमले ने राजनीती में जमकर खलबली मचा दी है। दोनों बड़ी पार्टियां इस हमले पर अपने अपने सियासी दांव खेल रही हैं। हाल ही कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी भी ने ट्विटर पर इस हमले पर एक पहेली की तरह प्रश्न पूछकर भाजपा पर निशाना साधा है। सवाल में राहुल ने जनता से "डर और नफरत के अपराधी" का नाम बताने को कहा है।

इस सप्ताह में यह दूसरा मौका है जब राहुल गांधी ने अपने ट्वीट से सियासी गलियारों में उथल पुथल मचा दी है। इससे पहले राहुल ने कांग्रेस को मुस्लिम पार्टी बताने वाली बात का विरोध करते हुए कहा था कि कांग्रेस कमजोरों और पंक्ति के आखिर में खड़े लोगों के साथ है। स्वामी अग्निवेश पर हुए हमले में राहुल गांधी ने स्पष्ट रूप से भाजपा पर निशाना साधा है। अपने ट्विटर अकाउंट से भारतीय जनता पार्टी पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने एक प्रश्न पूछा है। इस ट्वीट से वे जनता के निशाने पर आ गए हैं। कई लोगों ने राहुल गांधी और कांग्रेस पार्टी की इस ट्वीट को लेकर आलोचना की है।

क्या कहा राहुल गांधी ने
स्वामी अग्निवेश पर हुए हमले की एक न्यूज रिपोर्ट को संलग्न करते हुए राहुल गांधी ने एक सवाल किया है। सवाल में कांग्रेस अध्यक्ष ने भय और नफरत के अपराधी का नाम बताने को कहा है। राहुल गांधी ने लिखा 'मैं पंक्ति के सबसे ताकतवर आदमी के लिए झुकता हूं। मेरे लिए व्यक्ति की ताकत ही सबसे ज्यादा जरूरी है। मैं क्रम बनाए रखने के लिए डर और नफरत का इस्तेमाल करता हूं। मैं कमजोरों को खोजकर उन्हें खत्म करता हूं। मैं किसी भी व्यक्ति को उनकी ताकत के हिसाब से आंकता हूं। कौन हूं मैं'?

क्या  था मामला
झारखंड की पाकुर में एक आदिवासी कार्यक्रम में भाग लेने पहुंचे आर्य समाज के पंडित स्वामी अग्निवेश को दर्जनों लोगों ने बुरी तरह पीटा। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार जैस ही स्वामी अग्निवेश होटल से बहार निकले तो भीड़ ने जय श्री राम कहते हुए स्वामी अग्निवेश को पीटना और गालियां देना शुरू कर दिया। उग्र भीड़ ने स्वामी को लात घूंसों से पीटा और उनके कपड़े फाड़ डाले।

भाजपा पर लग रहे हैं आरोप

स्वामी अग्निवेश पर हुए इस हमले के आरोप भारतीय जनता पार्टी पर लग रहे हैं। झारखंड के पाकुर के जिस होटल में स्वामी ठहरे थे, उसके बाहर भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा के कार्यकर्ता धरना दे रहे थे। धरना देने वाले कार्यकर्ताओं के हाथ में काले झंडे थे और वे अग्निवेश वापस जाओ के नारे लगा रहे थे।

पुलिस पर आरोप
स्वामी अग्निवेश के प्रतिनिधि मनोहर मानव ने इसे मोब लिंचिंग बताते हुए पुलिस पर नजरंदाजी का आरोप लगाया है। मनोहर मानव के अनुसार जब स्वामी अग्निवेश पर हमला हुआ तो पुलिस ने कोई मदद नहीं की, हमने बामुश्किल भीड़ से उन्हें बचाया। मानव ने कहा कि स्वामी जी ने एसपी को भी बुलाया लेकिन वे भी नहीं पहुंचे

अपने ऊपर अचानक हुए इस हमले पर स्वामी अग्निवेश ने कहा की 'इसकी पूर्व सूचना आयोजकों द्वारा प्रशासन को दे दी गयी थी। इसके बावजूद मुझे कोई सुरक्षा नहीं मिली। इसकी सूचना मुख्या सचिव को भेज दी गयी है। यह मुझे डराने का प्रयास है'। 

"ईसाईयों का एजेंट"
पार्टी पर लग रहे स्वामी अग्निवेश पर हमले के आरोपों भाजापा युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष प्रसन्ना मिश्रा ने खंडन किया है। मिश्रा के अनुसार स्वामी अग्निवेश ईसाईयों के एजेंट हैं, वे यहां कार्यक्रम के नाम पर आदिवासियों को फंसाने आए हैं। हमने उनपर कोई हमला नहीं किया है, केवल विरोध किया है।


राहुल के ट्वीट का विरोध
अपने इस पहेलीनुमा ट्वीट को लेकर राहुल गांधी लोगों के निशाने पर आ गए हैं. एक ट्विटर उपयोगकर्ता ने राहुल गांधी की तरह ही उनसे प्रश्न पूछते हुए मजाक उड़ाया है.

कमेंट करें
OvGk1