दैनिक भास्कर हिंदी: 'विकास को क्या हुआ, ये कैसे पागल हुआ, ये झूठ सुन-सुन के पागल हुआ'

October 9th, 2017

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। गुजरात के चुनावी माहौल में सियासत और गर्मा गई है। सोमवार को कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी अपने दूसरे चरण की 'जनसर्जन यात्रा' की शुरुआत कर दी है। यात्रा के पहले दिन राहुल ने खेड़ा जिले के रस्का गांव से नवसर्जन यात्रा शुरू की। बीते दिनों राहुल गांधी गुजरात के तीन दिन के दौरे पर थे, जहां उन्होंने बीजेपी पर जमकर निशाना साधा । राहुल गांधी 9 से 11 अक्टूबर यानि दो दिन के गुजरात दौरे पर रहेंगे। इस दौरान वह पश्चिमी गुजरात में रोड शो करेंगे और कई जिलों में जाएंगे। अपने पिछले गुजरात दौरे की तरह ही इस बार भी राहुल वहां कई मंदिरों में दर्शन करने जाएंगे। पिछले दौरे के दौरान राहुल गांधी ने अपनी यात्रा की शुरुआत गुजरात के द्वारका मंदिर में दर्शन कर की थी। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी इससे पहले शनिवार और रविवार को गुजरात दौरे पर थे।

 

 

खेड़ा में राहुल की सभा

जनसभा में राहुल गांधी गुजरात के विकास पर तंज कसे। राहुल ने कहा कि गुजरात के विकास को क्या हुआ, ये कैसे पागल हुआ, झूठ सुन-सुन के पागल हुआ। कांग्रेस यहां आएगी तो आपकी सरकार चलेगी, छोटे से छोटा काम आपसे पूछकर करेंगे। राहुल ने कहा कि नरेंद्र मोदी जी का गुजरात मॉडल फेल है, ये गुजरात को मालूम है। हम आप अपने मन की बात नहीं सुनाएंगे, बल्कि आपके मन की बात सुनेंगे।

अमित शाह के बेटे पर राहुल का ट्वीट

अमित शाह के बेटे जय शाह की कंपनी के टर्नओवर पर एक वेबसाइट के खुलासे पर भी राहुल ने ट्वीट किया है। जय शाह की कंपनी पर बीजेपी के सरकार में आने के बाद 16000 हजार गुना टर्नओवर में इजाफे का आरोप है।

ये है राहुल का कार्यक्रम

सोमवार सुबह 10 बजे कांग्रेस उपाध्यक्ष दिल्ली से अहमदाबाद हवाई अड्डा पहुंचें। यहां से वह हाथीजन सर्किल जाएंगे और इसके बाद जिभाईपुरा और खेड़ा के लिए रवाना होंगे। यहां अमूल के कार्यक्रम में उनका स्वागत किया जाएगा। जिभाईपुरा से वह संतराम मंदिर जाएंगे। यह मंदिर सांप्रदायिक सौहार्द का प्रतीक माना जाता है। यहां हिंदू और मुस्लिम दोनों समुदाय के लोग पूजा-अर्चना करते हैं। मंदिर में दर्शन करने के बाद राहुल सरदार वल्लभ भाई पटेल के जन्म स्थान नदियाड का दौरा करेंगे। नंदियाड के बाद वो आणंद के पेटलाड शहर जाएंगे और वहां लोगों को संबोधित करेंगे। डेरदद्दा गांव में वह महिला दुग्ध को-ऑपरेटिव के प्रतिनिधियों से बातचीत करेंगे। आणंद के बाद वह वडोदरा के सयाजी हॉल में कारोबारी प्रतिनिधियों और प्रोफेशनल्स से मुलाकात करेंगे। 

 

10 अक्टूबर को कांग्रेस उपाध्यक्ष वडोदरा में बाबा साहेब आंबेडकर की ‘संकल्प भूमि’ जाएंगे। इसके बाद वह आशा कार्यकर्ताओं, किसानों से मुलाकात करेंगे। राहुल वडेली, छोटा उदेपुर में आम लोगों संबोधित भी करेंगे। दौरे के अंतिम दिन 11 अक्टूबर को राहुल दाहोद जिले में अनुसूचित जनजाति के छात्रों के साथ बैठक करेंगे। दाहोद में ही वह कबीर मंदिर देखने जाएंगे।

कांग्रेस नहीं करना चाहती किसी तरह की चूक


राहुल गांधी का पिछले एक महीने के भीतर यह गुजरात का दूसरा दौरा है। पहले दौरे के दौरान गुजरातियों ने राहुल का खूब गर्म जोशी से स्वागत किया था। पटेल समुदाय के नेता हार्दिक पटेल ने ट्वीट कर कांग्रेस उपाध्यक्ष का स्वागत किया था। बता दें गुजरात में 2017 के अंत तक विधानसभा चुनाव होना है, जिसके लिए बीजेपी और कांग्रेस दोनों ने ही कमर कस ली है। गुजरात चुनाव महज चुनाव नहीं है। यह साख की लड़ाई है। बीजेपी 2 दशक से गुजरात की सत्ता पर काबिज है। साथ ही यह पीएम मोदी का गृहराज्य भी है, जिसके बाद यहां हार या जीत ‘प्रतिष्ठा का सवाल’ है। देश में वापसी के लिहाज से कांग्रेस के लिए गुजरात बहुत महत्व रखता है।