comScore

राजनीति: सचिन पायलट के खिलाफ कांग्रेस का बड़ा एक्शन, डिप्टी सीएम और प्रदेश अध्यक्ष समेत सभी पदों से हटाए गए


हाईलाइट

  • राजस्थान में सियासत का सकंट जारी
  • सभी पदों से हटाए गए सचिन पायलट

डिजिटल डेस्क, जयपुर। राजस्थान में चल रहा सत्ता का संघर्ष थमा नहीं है। कांग्रेस ने बगावत करने वाले सचिन पायलट के खिलाफ बड़ा एक्शन लिया है। कांग्रेस हाईकमान ने पायलट को राजस्थान कांग्रेस अध्यक्ष और उपमुख्यमंत्री पद से हटा दिया है। कांग्रेस नेता रणदीप सुरेजवाला ने इस बात की पुष्टि की है। उन्होंने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा, सचिन पायलट और उनके कुछ मंत्री बीजेपी के जाल में फंस चुके हैं। भाजपा ने एक षडयंत्र के तहत राजस्थान की 8 करोड़ जनता के सम्मान को चुनौती दी है। बीजेपी ने साजिश के तहत कांग्रेस की सरकार को अस्थिर कर गिराने की साजिश की है।

बर्खास्त होने के बाद सचिन पायलट का ट्वीट
सचिन पायलट ने पार्टी से बर्खास्त होने के बाद ट्वीट करते हुए लिखा, 'सत्य को परेशान किया जा सकता है पराजित नहीं'
 

सुरेजवाला ने कहा कि बीजेपी धनबल और सत्ताबल से कांग्रेस पार्टी और निर्दलीय विधायकों को खरीदने की कोशिश की है। रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि सचिन पायलट भ्रमित होकर बीजेपी के जाल में फंस गए और कांग्रेस सरकार गिराने में लग गए। पिछले 72 घंटे से कांग्रेस आलाकमान ने सचिन पायलट और अन्य नेताओं से संपर्क करने की कोशिश की। कांग्रेस की ओर से लगातार सचिन पायलट को मनाने की कोशिश की गई, लेकिन उन्होंने लगातार हर बात को नकारा।

विधायकों ने गहलोत को चुना नेता 
राजस्थान की सियासी संघर्ष को लेकर आज (मंगलवार) ने विधायक दल की बैठक बुलाई थी, जहां सभी विधायकों ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को समर्थन दिया। बैठक में पार्टी से बगावत करने वाले सचिन पायलट और उनके समर्थन वाले विधायकों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की थी। बैठक के बाद पार्टी ने पायलट को उपमुख्यमंत्री, राजस्थान कांग्रेस अध्यक्ष समेत सभी पदों से हटा दिया है। इसके साथ ही उनके समर्थन वाले विधायकों पर गाज गिरी है। 

गोविंद सिंह डोटासरा को सौंपी गई राजस्थान की कमान
सचिन पायलट को अध्यक्ष पद से हटाए जाने के बाद पार्टी ने उनकी जगह शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपी दी है। पायलट के अलावा विश्वेंद्र सिंह और रमेश मीणा को मंत्रिमंडल से बर्खास्त कर दिया गया है।

पायलट के नेतृत्व में कांग्रेस को मिली थी जीत
राजस्थान में कांग्रेस ने सचिन पायलट के नेतृत्व में विधानसभा चुनाव जीता था। पायलट ने प्रदेश अध्यक्ष रहते हुए पार्टी की कमान संभाली और आगे रहकर पार्टी के लिए जमकर प्रचार-प्रसार किया है। कांग्रेस ने पायलट के नेतृत्व में भाजपा को हराया था। कांग्रेस की जीत में सचिन पायलट की आक्रामक चुनावी रणनीति और उनके नेतृत्व की तारीफ हुई थी।

टोंक से विधायक हैं सचिन पायलट
राजस्थान में प्रदेश कांग्रेस की कमान संभालने वाले सचिन पायलट टोंक विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं। वहीं, पर्यटन और देवस्थान मंत्री रहे विश्वेंद्र सिंह विधानसभा में दीघ कुम्हेर सीट का प्रतिनिधित्व करते हैं। इनकी गिनती गहलोत के विरोधी नेताओं में होती है। इसके अलावा गहलोत मंत्रिमंडल से हटाए गए रमेश मीणा खाद्य और नागरिक आपूर्ति विभाग के मंत्री थे। रमेश मीणा सपोटरा विधानसभा क्षेत्र से तीन बार के विधायक हैं।

कमेंट करें
jyDnZ