दैनिक भास्कर हिंदी: राजस्थान चुनाव 2018: चार साल से 73 साल के ही हैं भाजपा सांसद सोनाराम चौधरी

November 22nd, 2018

हाईलाइट

  • 2014 के आम चुनाव में उन्होंने शपथ पत्र में अपनी उम्र 73 साल लिखी थी
  • चुनाव आयोग की वेबसाइट पर उपलब्ध हैं सभी नामांकन और शपथ पत्र
  • 2008 में बाड़मेर जिले की बायतु विधानसभा सीट से लड़ चुक हैं

डिजिटल डेस्क, जयपुर। राजस्थान के बाड़मेर से भाजपा प्रत्याशी की उम्र चार साल में बिल्कुल भी नहीं बढ़ी है। बीजेपी सांसद और बाड़मेर विधानसभा सीट के भाजपा उम्मीदवार कर्नल सोनाराम चौधरी ने शपथ पत्र में अपनी उम्र 73 साल लिखी है। इससे पहले 2014 के आम चुनाव में उन्होंने शपथ पत्र में अपनी उम्र 73 साल लिखी थी।


शपथ पत्र के मुताबिक साढ़े चार साल में उनकी उम्र बिल्कुल भी नहीं बढ़ी है। सोनाराम का वर्तमान नामांकन और 2014 के चुनाव का शपथ पत्र चुनाव आयोग की वेबसाइट पर भी उपलब्ध है। बता दें कि 19 नवंबर को सोनाराम ने बाड़मेर विधानसभा सीट से अपना नामांकन दाखिल किया है। 


धरी 2008 के विधानसभा चुनावों में बाड़मेर जिले की बायतु विधानसभा सीट से चुनाव लड़ चुके हैं। उस समय उन्होंने अपनी उम्र 65 साल बताई थी। चौधरी ने 2013 में दोबारा इस सीट से ही चुनाव लड़ा था। तब उन्होंने अपनी उम्र 72 साल बताई थी। इस जानकारी के मुताबिक चौधरी की उम्र 5 साल में 7 साल बढ़ गई। चौधरी का यह शपथ पत्र भी आयोग की वेबसाइट पर है।


कर्नल सोनाराम चौधरी की गिनती मारवाड़ के रसूखदार जाट नेताओं में होती है। 1996, 1998 और 1999 में चौधरी कांग्रेस की टिकट पर जीतकर लोकसभा पहुंच चुके हैं। इसके बाद 2004 में चौधरी पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह के बेटे मानवेंद्र सिंह के खिलाफ मैदान में उतरे थे, लेकिन ये चुनाव वो हार गए।


बायतु विधानसभा सीट से सोनाराम 2008 में कांग्रेस के टिकट पर चुनाव जीतकर विधानसभा पहुंचे। इस सीट से ही चौधरी ने 2013 में फिर चुनाव लड़ा। चुनाव हारने के बाद 2014 के लोकसभा चुनावों से पहले चौधरी कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हो गए। इसके बाद भाजपा के पूर्व नेता जसवंत सिंह को हराकर चौधरी लोकसभा पहुंचे। भाजपा ने सोनाराम चौधरी को 2018 विधानसभा चुनाव में फिर मैदान में उतारा है। 
 

खबरें और भी हैं...