दैनिक भास्कर हिंदी: डासना जेल से रिहा हुए आरुषि के माता-पिता

October 17th, 2017

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। आरुषि-हेमराज मर्डर केस में शुक्रवार को बरी हुए तलवार दंपति आज रिहा हो गए। CBI कोर्ट द्वारा उनके रिलीज ऑर्डर जारी करने के बाद सोमवार शाम 5 बजे वे जेल से बाहर आ गए। दोनों गाजियाबाद की डासना जेल में बंद थे। इससे पहले हाईकोर्ट से 245 पेज की सत्यापित कॉपी आज सीबीआई की विशेष अदालत में पेश की गई, जिसके बाद CBI कोर्ट ने रिलीज ऑर्डर जारी कर दिए। तलवार दंपति ने सजा के दौरान जेल के क्लीनिक में जेल अफसरों, कर्मचारियों और बंदियों का इलाज करके 99 हजार रुपए कमाए थे। ये कमाई उन्होंने जेल प्रबंधन को ही वेलफेयर के लिए दान कर दी है। जेल अफसर दुधीराम मौर्य ने इसकी पुष्टि की है।

गौरतलब है कि डॉ. राजेश तलवार और डॉ. नूपुर तलवार पिछले 4 साल से अपनी बेटी की हत्या के आरोप में डासना जेल में बंद थे। 2013 में गाजियाबाद की सीबीआई कोर्ट ने तलवार दंपति को आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी, जिसे चुनौती देते हुए हाईकोर्ट में याचिका दायर की गई थी। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने निचली अदालत के फैसले को बदलते हुए दोनों को बरी कर दिया।

तलवार दंपति के वकील मनोज सिसौदिया ने बताया कि शनिवार को उन्हें हाईकोर्ट के आदेश की सत्यापित कॉपी मिल गई थी, जिसके तहत सोमवार को अदालत में बेल बॉन्ड भरा गया। इस आदेश के तहत दोनों की रिहाई के लिए एक-एक लाख रुपये के दो-दो जमानती बॉन्ड पेश किए गए।

इससे पहले इलाहाबाद हाई कोर्ट से क्लीन चिट मिलने के बाद तलवार दंपति से मुलाकात करने उनका कोई भी परिजन डासना जेल नहीं पहुंचा। शनिवार को दंपति की जेल में आधे घंटे आपस में मुलाकात हुई थी। रविवार को उम्मीद जताई जा रही थी कि राजेश और नूपुर तलवार के परिजनों में से कोई न कोई उनसे मिलने जेल में पहुंचेगा। यह वजह थी कि रविवार को डासना जेल के आसपास मीडियाकर्मियों का जमावड़ा रहा। पूरे दिन लोग टकटकी लगाए देखते रहे कि तलवार दंपति से मुलाकात करने के लिए कौन आ रहा है। देर शाम तक कोई भी रिश्तेदार उनसे मुलाकात करने के लिए जेल नहीं पहुंचा।