दैनिक भास्कर हिंदी: SP-BSP साथ मिलकर लड़े तो BJP को होगा नुकसान: रामदास आठवले

April 9th, 2018

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। मोदी सरकार में मंत्री और आरपीआई के अध्यक्ष रामदास आठवले ने अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव को लेकर बड़ा बयान दिया है। उनका यह बयान बीजेपी की चिंता बढ़ा सकता है। सूरत में रामदास आठवले ने कहा कि अगर एसपी-बीएसपी एकसाथ चुनाव लड़ती है तो इससे बीजेपी को नुकसान होगा। बता दें कि 2019 में विपक्ष एकजुट होकर बीजेपी को घेरने की योजना बना रहा है। जिसकी एक झलक हाल ही में यूपी में गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा उपचुनाव में देखने को मिली थी। 


2019 में बनेगी NDA की सरकार

आठवले ने कहा, ''सपा बसपा साथ आने से कुछ सीटों का नुकसान होगा। गोरखपुर और फूलपुर में लोगों की दिलचस्पी कम थी और सपा बसपा साथ आने बीजेपी चुनाव हारी। बीजेपी को नुकसान होगा, लेकिन 2019 में एनडीए की ही सरकार बनेगी। 


मायावती को दिया ऑफर  

रामदास आठवले मायावती को एनडीए में शामिल होने का ऑफर दे चुके हैं, रामदास आठवले ने कहा था कि अगर मायावती को दलितों की वाकई में चिंता है तो उन्हें एनडीए का हिस्सा बन जाना चाहिए। आठवले ने कहा था कि सपा-बसपा गठबंधन से पार्टी को 20 से 25 सीटों का नुकसान होगा। हालांकि इससे एनडीए की सरकार बनने की सम्भावनाओं पर कोई असर नहीं पड़ेगा। आठवले ने कांग्रेस, सपा और बसपा शासन में दलितों पर अत्याचार का आरोप भी लगाया था। मायावती द्वारा कोई रूचि नहीं दिखाए जाने पर आठवले ने इसे चुनौती के रुप में लिया है और आम चुनाव में मायावती के खिलाफ टीवी और बॉलीवुड की चर्चित अभिनेत्री को उतारने का ऐलान किया है। बता दें कि वह चर्चिच अभिनेत्री राखी सावंत हैं।

 

आठवले पर युवक ने फेंका काला कपड़ा 


बता दें कि सूरत में ही एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान एक युवक ने आठवले पर काला कपड़ा फेंक दिया। इस युवक ने कहा कि दलितों पर अत्याचार होते हैं और हमारे नेता राजनीति करते रहते हैं। बता दें कि रामदास आठवले खुद भी दलित समुदाय से ही आते हैं। बता दें कि एससी-एसटी ऐक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद हुए भारत बंद से दलितों में असंतोष फैला है। इससे वर्तमान एनडीए सरकार और उसके सहयोगियों पर विपक्ष और तमाम दलित संगठन हमलावर हैं। दलितों में फैले रोष का सामना आए दिन मंत्रियों, विधायकों और सांसदों को भी जहां-तहां करना पड़ रहा है।

 

रामदास आठवले ने यह भी कहा कि राहुल गांधी प्रधानमंत्री बनने के सपने देख रहे हैं, मगर कांग्रेस सत्ता में नहीं आएगी। गुजरात में राहुल गांधी ने अच्छा प्रर्दशन किया है, उसकी वजह हार्दिक पटेल हैं। अगर हार्दिक पटेल को अपने समाज के लिए आरक्षण चाहिए तो उन्हें नरेंद्र मोदी की एनडीए सरकार का साथ देना चाहिए।