comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

रॉबर्ट वाड्रा को ईडी ने पूछताछ के लिए बुलाया, लंदन की प्रॉपर्टी निशाने पर

रॉबर्ट वाड्रा को ईडी ने पूछताछ के लिए बुलाया, लंदन की प्रॉपर्टी निशाने पर

हाईलाइट

  • ईडी ने रॉबर्ट वाड्रा को पूछताछ के लिए बुलाया
  • गुरुवार को दिल्ली में ईडी के ऑफिस में होगी पूछताछ
  • लंदन में प्रॉपर्टी को लेकर होगी पूछताछ

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। प्रवर्तन निदेशालय ने रॉबर्ट वाड्रा को पूछताछ के लिए समन जारी किया है। ईडी ने रॉबर्ट को पूछताछ के लिए गुरुवार को बुलाया है। सूत्रों के मुताबिक ईडी रॉबर्ट वाड्रा से लंदन की प्रॉपर्टी को लेकर सवाल कर सकती है। प्रवर्तन निदेशालय का कहना है कि लंदन में प्रॉपर्टी को गलत तरीके से खरीदा गया है और उसमें ब्लैकमनी का इस्तेमाल किया गया है। 

जमानत खारिज करने की अपील

इससे पहले ईडी ने दिल्ली उच्च न्यायालय से वाड्रा की जमानत खारिज करने की अपील की थी। ईडी ने कोर्ट में कहा था कि रॉबर्ट वाड्रा जानते हैं उन्हें गिरफ्तार नहीं किया जा सकता। इसलिए वह जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं। ऐसे में उन्हें हिरासत में लेकर पूछताछ करना जरूरी है। ईडी की तमाम दलीलों के बाद कोर्ट ने केस की अगली सुनाई 17 जुलाई को तय की है। 

मनोज अरोड़ा से मांगा जवाब

कोर्ट ने रॉबर्ट वाड्रा की स्काईलाइट हॉस्पिटेलिटी एलएलपी के कर्मचारी और मामले में सह आरोपी मनोज अरोड़ा से भी जवाब मांगा है। प्रवर्तन निदेशाल ने उनकी अग्रिम जमानत रद्द करने की अपील की है। ईडी की ओर से पेश हुए सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि ईडी रॉबर्ट को हिरासत में लेना चाहती है, क्योंकि वह जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं। 

अघोषित विदेशी संपत्ति का आरोप

रॉबर्ट वाड्रा पर टैक्स से बचने के लिए अघोषित विदेश संपत्ति होने का आरोप है। प्रवर्तन निदेशायल अब तक वाड्रा से 58 घंटे पूछताछ कर चुकी है। ईडी का दावा है कि मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में वाड्रा के खिलाफ उनके पास ठोस सबूत है। ईडी का आरोप है कि लंदन की प्रॉपर्टी को गलत तरीके से खरीदा गया और उसमें कालेधन का इस्तेमाल किया गया है। 


संजय भंडारी अहम इस केस में

रॉबर्ट वाड्रा के केस में संजय भंडारी सबसे अहम है। भंडारी से आयकर विभाग पूछताछ कर चुकी है। आयकर विभाग की जांच में वाड्रा और संजय भंडारी के लिंक जुड़ रहे है, जिसके आधार पर ईडी पूछताछ कर रही है। हालांकि रॉबर्ट पूछताछ में संजय से अपने किसी कारोबारी रिश्तों को नकार चुके हैं। अब ईडी दोनों के बीच क्या ताल्लुक है, इस पर काम कर रही है। 

कौन है संजय भंडारी ?

संजय भंडारी हाईप्रोफाइल आर्म्स कंसल्टेंट हैं। वर्ष 2008 में भंडारी ने विदेश हथियार कंपनियों के लिए रक्षा सलाहकार, संपर्क सेवा प्रदाता और ऑफसेट की जिम्मेदारी निभाते हुए ऑफसेट इंडिया सॉल्यूशंस ग्रुप की स्थापना की। भंडारी जांच एजेंसियों के निशाने पर 2010 में आए थे। भंडारी की कंपनी दुनियाभर में आयोजित आर्म्स शोज में शामिल होती है। यूपीए सरकार में संजय भंडारी ने आर्म्स कंसल्टेंट में अच्छी पकड़ बना ली। वहीं संजय भंडारी को रॉबर्ट वाड्रा का दोस्त कहा जाता है। राफेल विमान से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेज भंडारी के घर पर मिले थे। संजय भंडारी पर कार इम्पोर्ट पर लगने वाले कस्टम ड्यूटी चार्ज नहीं देने का भी आरोप है। 

कमेंट करें
2rWyQ